• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • ई-नीलामी में नोएडा के DM सुहास के बैडमिंटन रैकेट की कीमत 10 करोड़ रुपये पहुंची

ई-नीलामी में नोएडा के DM सुहास के बैडमिंटन रैकेट की कीमत 10 करोड़ रुपये पहुंची

इसी रैकेट से टोक्यो पैरालंपिक 2020 में डीएम सुहास ने जीता था सिल्वर मेडल.

इसी रैकेट से टोक्यो पैरालंपिक 2020 में डीएम सुहास ने जीता था सिल्वर मेडल.

e-auction : केंद्र सरकार की वेबसाइट पीएम मेमेंटोज पर चल रही ई-नीलामी में गौतमबुद्ध नगर के डीएम सुहास यतिराज का वह बैडमिंटन रैकेट भी है, जिससे उन्होंने टोक्यो पैरालंपिक 2020 में सिल्वर मेडल जीता था. फिलहाल इस रैकेट की कीमत 10 करोड़ रुपये हो चुकी है. इससे हुई आय का उपयोग नमामि गंगे प्रोजेक्ट में होगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

नोएडा. गौतमबुद्ध नगर के DM सुहास यतिराज ने जिस बैडमिंटन रैकेट से टोक्यो पैरालंपिक 2020 में इतिहास रचा, उसे ई-ऑक्शन में रखा गया है. यह ई-ऑक्शन केंद्र सरकार करा रही है. डीएम सुहास के इस रैकेट पर अब तक 4 बिडर्स ने बोली लगाई है. आज यानी 17 सितंबर से शुरू हुए इस ई-ऑक्शन में रैकेट की बेस प्राइस 50 लाख रुपये रखी गई थी, जो अब 10 करोड़ रुपये हो चुकी है. इसी बैडमिंटन रैकेट से डीएम सुहास ने टोक्यो पैरालंपिक में सिल्वर मेडल जीता था. 7 अक्टूबर की शाम 5 बजे तक ई-ऑक्शन की खुला है, जो भी चाहे वह बोली लगा सकता है.

बोली लगाने के लिए आपको वेबसाइट पीएम मेमेंटोज पर जाना होगा. यहां आपको नीरज चोपड़ा के उस जेबलिन की बोली लगते हुए भी दिख जाएगी जिससे नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक 2020 में गोल्ड मेडल जीता था. इसके अलावा पीएम नरेंद्र मोदी को अलग-अलग अवसरों पर मिले गिफ्ट आइटमों की भी ई-नीलामी में शामिल होने का अवसर केंद्र सरकार की इस वेबसाइट पर मिलेगा. संस्कृति मंत्रालय की ओर से आयोजित इस ई-ऑक्शन से आए पैसों का इस्तेमाल नमामि गंगे में किया जाएगा.

इसे भी पढ़ें : Tokyo Paralympics में नोएडा के डीएम सुहास यतिराज ने सिल्वर जीतकर रचा था इतिहास

जाने सुहास यतिराज को

टोक्यो पैरालंपिक 2020 के एसएल4 क्लास फाइनल में सुहास यतिराज फ्रांस के लुकास माजूर से हारकर गोल्ड मेडल से चूक गए थे. माजूर ने सुहास को 15-21, 21-17, 21-15 से हराया था. टोक्यो पैरालंपिक में बैडमिंटन में यह भारत का तीसरा पदक है. गौतम बुद्ध नगर (नोएडा) के 38 वर्षीय जिलाधिकारी (डीएम) सुहास पैरालंपिक खेलों में पदक जीतने वाले पहले आईएएस अधिकारी हैं. कर्नाटक के 38 वर्ष के सुहास के टखनों में विकार है. कोर्ट के भीतर और बाहर कई उपलब्धियां हासिल कर चुके सुहास कम्प्यूटर इंजीनियर है और 2007 बैच के आईएसएस अधिकारी भी. वह 2020 से नोएडा के जिलाधिकारी हैं.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज