होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Noida: लोगों से नहीं घुलना-मिलना पड़ सकता है भारी, एक हफ्ते में 6 लोगों ने की ख़ुदकुशी

Noida: लोगों से नहीं घुलना-मिलना पड़ सकता है भारी, एक हफ्ते में 6 लोगों ने की ख़ुदकुशी

Symbolic image 

Symbolic image 

नोएडा में अचानक बढ़ रही आत्महत्या पर मेंटल हेल्थ एक्सपर्ट संगीता काबरा बताती हैं कि शहर में लोग अकेले होते हैं. घर-परिव ...अधिक पढ़ें

    आदित्य कुमार

    नोएडा. देश की राजधानी दिल्ली से सटे नोएडा को उत्तर प्रदेश का शो विंडो कहा जाता है. यहां रोजगार, पढ़ाई और करियर के लिए बड़ी संभावनाएं हैं. लोग यहां प्रदेश और देश के कोने-कोने से पढ़ाई करने, नौकरी करने के लिए आते हैं. वो अपना घर-बार छोड़कर यहां अजनबियों के बीच जीवन जीते हैं. इस तरह अकेले हो जाने के कई दुष्परिणाम सामने आ रहे हैं. लोग अवसाद में अपनी जान ले रहे हैं. नोएडा में बीते एक सप्ताह में आधा दर्जन लोगों ने आत्महत्या कर लिया है.

    एडिशनल कमिश्नर आशुतोष द्विवेदी बताते हैं कि बीते सोमवार को गोल्फ कोर्स मेट्रो स्टेशन पर एक नाबालिग युवक ने अपनी जान दे दी. ग्रेटर नोएडा के नॉलेज पार्क 2 मेट्रो स्टेशन पर भी एक छात्र ने दूसरी मंजिल से कूदकर जान दे दी. तीसरी घटना नोएडा सेक्टर-62 की है जहां एक महिला ने सुबह0सुबह पांचवी मंजिल पर स्थित अपने घर से छलांग लगाकर खुदकुशी कर ली. वहीं, नोएडा की सबसे बड़ी बिल्डिंग सुपरनोवा से 43 वर्षीय एक व्यक्ति ने कूदकर अपनी जिंदगी खत्म कर ली.

    आपके शहर से (नोएडा)

    नोएडा
    नोएडा

    मेंटल हेल्थ पर बात करना जरूरी

    नोएडा में अचानक बढ़ रही आत्महत्या पर मेंटल हेल्थ एक्सपर्ट संगीता काबरा बताती हैं कि शहर में लोग अकेले होते हैं. घर-परिवार से दूर रहने पर वो धीरे धीरे अवसाद में चले जाते हैं. ऐसे में जरूरी है कि वो मेंटल हेल्थ पर खुलकर बात करें. अपने आस-पास रहने वाले लोगों से मिलते जुलते रहें. सबका हालचाल पूछते रहे ताकि कोई मानसिक तनाव न हो.

    जानिए अवसाद पर कैसे करें प्रहार

    संगीता काबरा ग्रेटर नोएडा में ही रहती हैं. वो उत्तर प्रदेश के चाइल्ड हेल्पलाइन नंबर के साथ मेंटल हेल्थ काउंसलर के रूप में काम करती हैं. वो बताती हैं कि जब हमारा दिमाग खाली होता है, और खास तौर से अकेलेपन में लोग अवसादग्रस्त हो जाते हैं. इसलिए ज्यादा चिंता न करें, खुद में या साथ में रहने वाले लोगों के व्यवहार में परिवर्तन दिखे तो उसे गंभीरता से लें. मेंटल हेल्थ को हल्के में न लें.

    Tags: Delhi-NCR News, Noida news, Suicide, Up news in hindi

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें