Home /News /uttar-pradesh /

supertech twin tower will be demolish by 4 thousend ton explosives in noida dlnh

वी शेप के 9 हजार होल में बारूद भरकर गिराए जाएंगे सुपरटेक के ट्विन टावर, जानें प्लान

ट्विन टावर गिराने के लिए वी शेप के करीब 9 हजार होल में बारूद भरा जा सकता है.  (फाइल फोटो)

ट्विन टावर गिराने के लिए वी शेप के करीब 9 हजार होल में बारूद भरा जा सकता है. (फाइल फोटो)

विस्फोटक (Explosive) लगाकर जब कहीं भी बिल्डिंग गिराई जाती है तो देखने वालों की भीड़ लग जाती है. लेकिन मौके पर मौजूद कंपनी के लोगों की मानें तो सुपरटेक ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) के 300 मीटर एरिया में किसी को भी जाने की अनुमति नहीं होगी. यहां तक की जब टावर गिराए जाएंगे तो आसपास की सोसाइटी में भी छतों तक पर किसी को रहने की इजाजत नहीं दी जाएगी. लेकिन 300 मीटर दूर खड़े होकर टावर को गिरते हुए देखा जा सकता है. इस दौरान नोएडा पुलिस (Noida Police) भी मौजूद रहेगी.

अधिक पढ़ें ...

    ssनोएडा. ट्रायल ब्लास्ट के बाद से सुपरटेक के ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) को गिराने के लिए नई प्लानिंग पर काम हो रहा है. ट्विन टावर एपेक्स और सियान को गिराने में कितने विस्फोटक (Explosive) की जरूरत होगी, विस्फोटक भरने के लिए टावर में कितने और किस तरह के होल किए जाएंगे इसकी भी प्लानिंग बन रही है. ट्विन टावर (Twin Tower) गिराने के लिए वी शेप के करीब 9 हजार होल में बारूद भरा जा सकता है. हालांकि सूत्रों की मानें तो 25 अप्रैल को प्लानिंग पर आखिरी मुहर लगेगी. विस्फोटक भी कितना चाहिएगा यह 5 दिन बाद ही पता चलेगा. ट्रायल ब्लास्ट (Trial Blast) को कामयाब मानते हुए अब उसी हिसाब से प्लानिंग बन रही है.

    बिल्डिंग गिराने के लिए ऐसे लगाया जाता है विस्फोटक

    विस्फोटक भरे जाते हैं. कॉलम और बीम को वी शेप में काटा जाता है. फिर उसके अंदर विस्फोटक की छड़ रख दी जाती है. विस्फोटक ग्राउंड फ्लोर से लेकर 1 और 2 फ्लोर तक तो लगातार विस्फोटक रखा जाता है. लेकिन उसके बाद 4-4 फ्लोर का गैप देकर जैसे दूसरे के बाद 6 पर और 6 के बाद 10, 14, 18 और 22वें फ्लोर पर. जानकारों की मानें तो किसी भी हाईराइज बिल्डिंग को गिराने के लिए उसके कॉलम और बीम में फ्लोर पर विस्फोटक भरा जाएगा. सूत्रों की मानें तो इसके लिए पूरी बिल्डिंग में करीब 9 हजार छेद किए जाएंगे.

    विस्फोटक लगाने के दौरान ऐसी रहेगी सुरक्षा

    सुपरटेक ट्विन टावर में विस्फोटक लगाने के दौरान सिर्फ तकनीशियनों को ही जाने की अनुमति होगी. इसके अलावा किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं होगी. दोनों टावर में करीब 20 से 25 दिन तक विस्फोटक लगाने का काम चलेगा. इस दौरान दोनों टावर की सुरक्षा स्थानीय पुलिस के हवाले रहेगी. टावर गिराने में कुल 4 हजार किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया जाएगा. टावर में हर रोज सिर्फ उतना ही विस्फोटक लाया जाएगा जितना एक दिन में लगाया जा सके. बाकी के स्टाक को टावर से अच्छी खासी दूरी पर रखा जाएगा.

    जून से आप नोएडा में चला सकेंगे ई-साइकिल, बनाए गए हैं 62 स्टैंड, जानें प्लान 4204273

    ट्विन टावर गिराने से पहले यह 6 बड़े काम करेगी कंपनी

    सुपरटेक के ट्विन टावर सियान और एपेक्स को विस्फोटक से गिराने का काम अमेरिका और साउथ अफ्रीका की कंपनी एडिफिस कर रही है. कंपनी के भारतीय अफसरों की मानें तो ट्विन टावर के गिरने का असर किसी भी तरह से आसपास के टावर पर नहीं होगा. इसके लिए कंपनी कुछ काम पहले से कर रही है.

    ट्विन टावर के आसपास मौजूद कुछ टावर्स का 100 करोड़ रुपये का बीमा कराया गया है.

    ट्विन टावर और अन्य टावर्स के बीच कंटेनर की दीवार बनाई जाएगी, जिससे मलबा उन पर न गिरे.

    जीओ फाइबर क्लाथ का जाल लगाया जाएगा. इससे तेज आवाज और धूल दूसरे टावर्स तक नहीं जाएगी.

    आसपास के टावर्स की वाइब्रेशन क्षमता और विस्फोट के वाइब्रेशन की जांच की गई है.

    धूल के गुबार से बचाने के लिए फायर टेंडर और हेलीकॉप्टर से पानी छिड़कने में मदद ली जा सकती है.

    22 मई विस्फोट वाले दिन एमरॉल्ड टावर खाली कराने के साथ पार्किंग भी खाली कराई जाएंगी.

    Tags: Explosion, Noida Authority, Noida Police, Supertech twin tower

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर