Home /News /uttar-pradesh /

supertech twin tower will be demolish in august by explosives in noida dlnh

सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने के लिए बना नया प्लान, जानें सब कुछ

Noida News: सुपरटेक टि्वन टावर को ध्वस्त करने के नए प्लान पर काम शुरू हो गया है.

Noida News: सुपरटेक टि्वन टावर को ध्वस्त करने के नए प्लान पर काम शुरू हो गया है.

Supertech Twin Tower Latest News: सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने के लिए तीन महीने का वक्त मांगने के पीछे एफिडिस कंपनी ने एक बड़ी वजह यह भी बताई है कि बारिश के मौसम में टावर गिराने से वायु प्रदुषण कम होगा. हवा में नमी होने के चलते धूल ज्यादा नहीं उड़ेगी. हालांकि बारिश के दौरान एक्सप्लोसिव का इस्तेमाल करने में दिक्कत आ सकती है, लेकिन उससे काम नहीं रुकेगा. कंपनी अगस्त में टावर गिराने का काम करेगी.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. सुपरटेक ट्विन टावर को गिराने की तैयारियां चल रही हैं. सुप्रीम कोर्ट से भी ट्विन टावर को गिराने के लिए और वक्त मिल चुका है. वहीं टावर गिराने की तैयारियों में लगी एडिफिस कंपनी नए प्लान के साथ काम कर रही है. कंपनी से जुड़े जानकारों की मानें तो टावर के कुल 32 फ्लोर में से 17 में एक्सप्लोसिव लगाया जाएगा. इसमें नए प्लान के तहत 10 फ्लोर के पूरे हिस्से में और 7 फ्लोर के आधे हिस्से में एक्सप्लोसिव लगाया जाएगा. टि्वन टावर गिरने के बाद उठने वाली धूल से वायु प्रदुषण न फैले इसके लिए जियो फाइबर टेक्सटाइल की चार लेयर और स्टील की जाली की चार लेयर लगाने का काम भी किया जाएगा. गौरतलब रहे कि ट्विन टावर 22 मई को गिराए जाने थे. लेकिन कंपनी ने नोएडा अथॉरिटी से तीन महीने का वक्त और मांगा था, जो कोर्ट के आदेश के बाद दे दिया गया है.

बिल्डिंग गिराने के लिए विस्फोटक लगाने का काम भी काफी महत्वपूर्ण है. इसके तहत विस्फोटक भरे जाते हैं. कॉलम और बीम को वी शेप में काटा जाता है. फिर उसके अंदर विस्फोटक की छड़ रख दी जाती है. विस्फोटक ग्राउंड फ्लोर से लेकर 1 और 2 फ्लोर तक तो लगातार विस्फोटक रखा जाता है. लेकिन उसके बाद 4-4 फ्लोर का गैप देकर जैसे दूसरे के बाद 6 पर और 6 क बाद 10, 14, 18 और 22वें जानकारों की मानें तो किसी भी हाईराइज बिल्डिंग को गिराने के लिए उसके कॉलम और बीम में फ्लोर पर विस्फोटक भरा जाएगा. सूत्रों की मानें तो इसके लिए पूरी बिल्डिंग में करीब 7 हजार छेद किए जाएंगे.

विस्फोटक लगाने के दौरान ऐसी रहेगी सुरक्षा

सुपरटेक ट्विन टावर में विस्फोटक लगाने के दौरान सिर्फ तकनीशियनों को ही जाने की अनुमति होगी. इसके अलावा किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं होगी. दोनों टावर में करीब 20 से 25 दिन तक विस्फोटक लगाने का काम चलेगा. इस दौरान दोनों टावर की सुरक्षा स्थानीय पुलिस के हवाले रहेगी. टावर गिराने में कुल 4 हजार किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया जाएगा. टावर में हर रोज सिर्फ उतना ही विस्फोटक लाया जाएगा जितना एक दिन में लगाया जा सके. बाकी के स्टाक को टावर से अच्छी खासी दूरी पर रखा जाएगा.

सेक्टर-142 से बॉटेनिकल गार्डन मेट्रो स्टेशन तक बनेगा कॉरिडोर, जानें प्लान

ट्विन टावर गिराने से पहले 6 बड़े काम करेगी कंपनी

ट्विन टावर के आसपास मौजूद कुछ टावर्स का 100 करोड़ रुपये का बीमा कराया गया है.

ट्विन टावर और अन्य टावर्स के बीच कंटेनर की दीवार बनाई जाएगी, जिससे मलबा उन पर न गिरे.

जीओ फाइबर क्लाथ का जाल लगाया जाएगा. इससे तेज आवाज और धूल दूसरे टावर्स तक नहीं जाएगी.

आसपास के टावर्स की वाइब्रेशन क्षमता और विस्फोट के वाइब्रेशन की जांच की गई है.

धूल के गुबार से बचाने के लिए फायर टेंडर और हेलीकॉप्टर से पानी छिड़कने में मदद ली जा सकती है.

22 मई विस्फोट वाले दिन एमरॉल्ड टावर खाली कराने के साथ पार्किंग भी खाली कराई जाएंगी.

Tags: Noida Authority, Supertech twin tower, Supreme court of india

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर