Home /News /uttar-pradesh /

supertech twin tower will demolish by explosive in april and may in noida dlnh

10 अप्रैल को सुपरटेक के सियान और एपेक्स टावर में होंगे विस्फोट, जानें प्लान

सुपर टेक ट्विन टॉवरों को धवस्त करने से पहले उन पर एक परीक्षण किया जाएगा. (फाइल फोटो)

सुपर टेक ट्विन टॉवरों को धवस्त करने से पहले उन पर एक परीक्षण किया जाएगा. (फाइल फोटो)

सुपरटेक के ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) सियान और एपेक्स में 10 अप्रैल को ट्रायल ब्लास्ट के लिए बेसमेंट के 4 और 14वीं मंजिल के एक पिलर में विस्फोटक (Explosive) लगाया जाएगा. माना जा रहा है कि यह टावर के सबसे मजबूत पिलर हैं. इसीलिए ट्रायल ब्लास्ट (Trial Blast) इन्हीं पिलर पर किया जा रहा है. इस टायल के बाद यह भी पता चल जाएगा कि टावर को गिराने में 4 हजार किलो विस्फोटक लगेगा या उससे भी कम.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. सुपरटेक के ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) सियान और एपेक्स में 10 अप्रैल की दोपहर विस्फोट किया जाएगा. इसके लिए सभी तैयारियां कर ली गई हैं. विस्फोट के लिए एक्सप्लोसिव डिपार्टमेंट (Explosive Department) के ज्वाइंट चीफ कंट्रोलर की अनुमति भी मिल गई है. सिर्फ बेसमेंट और टावर की 14वीं मंजिल पर विस्फोटक लगाकर कंट्रोल ब्लास्ट किया जाएगा. इसके लिए आसपास की बिल्डिंग्स को भी खाली कराने की जरूरत नहीं होगी. बुधवार को ज्वाइंट चीफ कंट्रोलर समेत नोएडा पुलिस (Noida Police) के कई बड़े अफसरों ने टावर का मुआयना भी किया. इस कंट्रोल ब्लास्ट के लिए सिर्फ 10 किलो विस्फोटक की ही जरूरत होगी. लेकिन ध्यान रहे कि यह सिर्फ ट्रायल ब्लास्ट होगा. पूरे टावर को गिराने के लिए 22 मई को ब्लास्ट किया जाएगा.

    पलवल से रोजाना वैन में आएगा  विस्फोटक

    सूत्रों की मानें तो सुपरटेक के ट्विन टावर को गिराने के लिए आने वाले विस्फोटक को टावर से 100 किमी की दूरी पर रखा जाएगा. इसके लिए हरियाणा के पलवल को भी चुना जा सकता है. पलवल को गोदाम बनाने के बाद टावर में लगने वाले विस्फोटक की मात्रा को हर रोज पलवल से दो वैन में लाया जाएगा. इस दौरान पुलिस के चाक-चौबंद इंतजाम भी रहेंगे. हालांकि पलवल के अलावा नोएडा से सटे दूसरे शहरों का भी चुनाव विस्फोटक रखने के लिए किया जा सकता है.

    10 सेकेंड में भरभरा कर गिर जाएंगे 100 मीटर ऊंचे टावर

    इमारत को ध्वस्त करने वाली कंपनी एडिफिस बिल्डर से मलबे को खरीदेगी ऐसे में बिल्डर को इमारत हटाने के लिए कंपनी को करीब सवा चार करोड़ पर का अतिरिक्त भुगतान करना होगा. अब इमारत को ध्वस्त करने में मात्र 10 सेकंड का समय लगेगा.

    अप्रैल में शुरू हो जाएगा यमुना एक्सप्रेसवे को ईस्टर्न पेरिफेरल से जोड़ने का काम, जानें प्लान

    बताया जा रहा है कि इमारत गिराए जाने की कार्रवाई के बाद तकरीबन 90 दिनों में इसका मलबा साफ किया जाएगा. मिली जानकारी के मुताबिक 180 दिनों में यह प्रक्रिया पूरी हो जाएगी. लेकिन सिर्फ 90 दिन  का वक्त मलवा साफ करने में लगेगा.

    विस्फोटक लगाने के दौरान ऐसी रहेगी सुरक्षा

    सुपरटेक ट्विन टावर में विस्फोटक लगाने के दौरान सिर्फ तकनीशियनों को ही जाने की अनुमति होगी. इसके अलावा किसी भी बाहरी व्यक्ति को जाने की अनुमति नहीं होगी. दोनों टावर में करीब 20 से 25 दिन तक विस्फोटक लगाने का काम चलेगा. इस दौरान दोनों टावर की सुरक्षा स्थानीय पुलिस के हवाले रहेगी. टावर गिराने में कुल 4 हजार किलो विस्फोटक का इस्तेमाल किया जाएगा.

    Tags: Blast, Noida Authority, Supertech Twin Tower case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर