Home /News /uttar-pradesh /

trial blast will on supertech twin tower in noida by explosive dlnh

रविवार की दोपहर पुलिस और सेना की निगरानी में होगा नोएडा!, जानें वजह 

रविवार की दोपहर 2.30 बजे नोएडा में होने वाले ब्लास्ट के संबंध में पुलिस और सेना की मदद ली जा रही है. File Photo

रविवार की दोपहर 2.30 बजे नोएडा में होने वाले ब्लास्ट के संबंध में पुलिस और सेना की मदद ली जा रही है. File Photo

सुपरटेक के सियान और एपेक्स ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) के बेसमेंट के 4 और 14वीं मंजिल के एक पिलर में विस्फोटक (Explosive) लगाया जाएगा. माना जा रहा है कि यह टावर के सबसे मजबूत पिलर हैं. इसीलिए ट्रायल ब्लास्ट (Trial Blast) इन्हीं पिलर पर किया जा रहा है. इस ट्रायल के बाद यह भी पता चल जाएगा कि टावर को गिराने में 4 हजार किलो विस्फोटक लगेगा या उससे भी कम.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. 10 अप्रैल, रविवार की दोपहर आपको अगर नोएडा  में पुलिस (Police) और सेना (Army) एक साथ नजर आए तो चौंकिएगा नहीं. रविवार की दोपहर 2.30 बजे नोएडा (Noida) में होने वाले ब्लास्ट के संबंध में पुलिस और सेना की मदद ली जा रही है. यह एक कंट्रोल ट्रायल ब्लास्ट होगा. नोएडा सेक्टर-93ए में सुपरटेक के सियान और एपेक्स ट्विन टावर (Supertech Twin Tower) को गिराने के लिए यह ट्रायल ब्लास्ट (Trial Blast) किया जा रहा है. सूत्रों की मानें तो ट्रायल ब्लास्ट के दौरान हर तरह की सावधानी बरतते हुए पुलिस और सेना की मदद भी ली जा रही है. इस दौरान ट्विन टावर के आसपास रहने वालों को घरों के अंदर ही रहने की हिदायत दी गई है. यहां तक की किसी को भी अपनी बालकनी में आने की इजाजत नहीं होगी. ट्रायल ब्लास्ट के लिए भी एक्सप्लोसिव डिपार्टमेंट के ज्वाइंट चीफ कंट्रोलर की अनुमति भी मिल गई है.

    10 सेकेंड में ऐसे गिराए जाएंगे ट्विन टावर

    टावर को गिराने का ठेका लेने वाली अमेरिका की कंपनी इससे पहले भारत में ही मुम्बई और कोच्चि में भी मल्टी स्टोरी बिल्डिंग गिराने का काम कर चुकी है. कंपनी ने नोएडा अथॉरिटी में अपना प्रस्ताव पेश करते हुए बताया है कि वो ट्वीन टावर को वॉटरफाल का तरीका अपनाकर तोड़ेगी. इसके लिए टावर के कॉलम, बीम और दिवारों में कई जगह छेद कर वी शेप में एक्सप्लोसिव लगाया जाएगा. इस तरीके से टावर का मलबा एक झरने से गिरने वाले पानी की तरह से नीचे आएगा. खास बात यह है कि मलबा टावर के अंदर की ओर गिरेगा.

    200 मीटर दूर खड़े होकर ऐसे गिराए जाएंगे टावर

    सुपरटेक की एमराल्ड योजना के दोनों टावर सियान और एपेक्स को सुप्रीम कोर्ट ने अवैध घोषित कर दिया है. साइट पर काम कर रहे इंजीनियरों के मुताबिक पहला धमाका कर सियान टावर को चार सेकेंड में गिरा दिया जाएगा. फिर तीन सेकेंड का खाली वक्त दिया जाएगा. अगले आठवें सेकेंड में एपेक्स टावर को गिराया जाएगा.

    138 करोड़ रुपये से ग्रेटर नोएडा को ऐसे मिलेगी जाम से मुक्ति, जानें प्लान

    एक्सपर्ट टीम दोनों टावर से 200 मीटर दूर खड़े होकर रिमोट बटन से टावर को गिराएगी. सूत्रों की मानें तो इस काम के लिए करीब 4 हजार किलो बारूद का इस्तेमाल किया जाएगा. हालांकि ट्रायल ब्लास्ट के बाद साफ हो जाएगा कि विस्फोटक 4 हजार किलो लगेगा या इससे कम.

    विस्फोटक के लिए बनाया जा रहा है प्लान 

    सूत्रों की मानें तो सुपरटेक के ट्विन टावर को गिराने के लिए आने वाले विस्फोटक को टावर से 100 किमी की दूरी पर रखा जाएगा. इसके लिए हरियाणा के पलवल को भी चुना जा सकता है. पलवल को गोदाम बनाने के बाद टावर में लगने वाले विस्फोटक की मात्रा को हर रोज पलवल से दो वैन में लाया जाएगा. इस दौरान पुलिस के चाक-चौबंद इंतजाम भी रहेंगे. हालांकि पलवल के अलावा नोएडा से सटे दूसरे शहरों का भी चुनाव विस्फोटक रखने के लिए किया जा सकता है.

    Tags: Explosion, Indian army, Noida Police, Supertech twin tower

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर