होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Twin Towers Demolition: पुलिस फोर्स की तैनाती, हेल्पलाइन नंबर व कंट्रोल रूम; जानें ट्विन टावर गिराने से पहले की तैयारी

Twin Towers Demolition: पुलिस फोर्स की तैनाती, हेल्पलाइन नंबर व कंट्रोल रूम; जानें ट्विन टावर गिराने से पहले की तैयारी


नोएडा में सुपरटेक के ट्विन टावर्स को गिराने की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है. (फाइल फोटो )

नोएडा में सुपरटेक के ट्विन टावर्स को गिराने की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है. (फाइल फोटो )

Twin Towers Demolition Noida News: नोएडा में सुपरटेक के ट्विन टावर्स को गिराने की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है. ट्विन ...अधिक पढ़ें

नोएडा: नोएडा में सुपरटेक के ट्विन टावर्स को गिराने की प्रक्रिया अब अंतिम चरण में है. ट्विन टावर्स ध्वस्तीकरण को लेकर पूरी तैयारी हो चुकी है. किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए प्रशासन ने कमर कस लिया है. यहां न केवल पुलिस फोर्स की भारी संख्या में तैनाती होगी, बल्कि नोएडा अथॉरिटी कंट्रोल रूम के माध्यम से इस ध्वस्तीकरण अभियान पर अपनी नजर बनाए रखेगा. इतना ही नहीं, नोएडा अथॉरिटी ने शिकायतों के लिए हेल्प लाइन नंबर भी जारी किए हैं.

ट्विन टावर ब्लास्ट को लेकर नोएडा ऑथोरिटी ने एक कंट्रोल रूम की भी स्थापना की है, जो इमारत ढहाने के बाद किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए है. यह कंट्रोल रूम शिकायत दर्ज कर कर्रवाई करेगा. कंट्रोल  रूम 28 अगस्त की सुबह 6:00 बजे सक्रिय हो जाएगा और 30 अगस्त तक 24 घंटे काम करेगा. इतना ही नहीं, अथॉरिटी ने शिकायत दर्ज कराने के लिए हेल्प लाइन नंबर भी जारी किया है. 0120-2425301, 0120-2425302, 0120-2425025 11- इन नंबरों पर सूचना या शिकायत दर्ज की जा सकती है. इमारत के आसपस तैनात लोगों के लिए एन-95 मास्क और कैप प्रदान किये जायेंगे. प्रभावित क्षेत्र में व्यक्तियों का प्रवेश अथवा आवागमन शाम 5 बजे के बाद ही संभव हो पायेगा.

सुपरटेक के ट्विन टावर्स के विध्वंस पर डीसीपी सेंट्रल राजेश एस ने कहा कि 400 से अधिक सिविल पुलिस कर्मी को मौके पर मौजूद रहेंगे. एनडीआरएफ से भी अनुरोध किया गया है. इसके अलावा, 8 एम्बुलेंस, 4 फायर टेंडर स्पॉट पर रहेंगे. साथ ही 3 अस्पतालों में आपात स्थिति के लिए बेड रिजर्व रहेंगे. इतना ही नहीं, अगर जरूरत पड़ी तो ग्रीन कॉरिडोर भी बनाया जाएगा.

आपके शहर से (नोएडा)

नोएडा
नोएडा

उन्होंने आगे कहा कि यातायात व्यवस्था को संभालने के लिए ट्रैफिक पुलिस कर्मियों को तैनात किया जाएगा. निवासियों को रविवार को सुबह 7 बजे तक डेडलाइन का पालन करने और घरों को खाली करने के लिए कहा गया है. सुरक्षा के लिए सोसाइटी में सीमित संख्या में गार्ड की अनुमति दी जाएगी. सुरक्षा गार्ड भी रविवार को 2.30 बजे होने वाले विस्फोट से पहले 1.45 बजे चले जाएंगे. इतना ही नहीं, एक्सप्रेसवे को कम से कम लगभग 1 घंटे के लिए 2 बजे से 3 बजे के बीच बंद किया जाएगा.

गौरतलब है कि नोएडा सेक्टर 93ए में स्थित करीब 32 मंजिला ट्विन टावर को गिराने के लिए 3,500 किलोग्राम से अधिक विस्फोटक का इस्तेमाल किया गया है. 31 अगस्त तक इलाके में ड्रोन के इस्तेमाल पर रोक लगा दी गई है. साथ ही, इसके आस-पास के इलाके को ध्वस्तीकरण वाले दिन सुबह से ही बंद किया जाएगा. इस टॉवर के आसपास की सोसायटी के लोगों को उस दिन सुबह 7 बजे तक इलाके को खाली करने के लिए भी कहा गया है.

दरअसल, कुतुब मीनार से भी ऊंचे सुपरटेक के अवैध ट्विन टावर 28 अगस्त को दोपहर 2.30 बजे 9 सेकंड में ध्वस्त हो जाएंगे. एपेक्स (32 मंजिला) और सेयेन (29 मंजिला) के विध्वंस से लगभग 35,000 क्यूबिक मीटर मलबा निकलेगा, जिसे साफ होने में कम से कम तीन महीने लगेंगे. बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने दोनों टॉवरों को विस्फोटक से गिराने को हरी झंडी दे दी है. इन टॉवरों को ब्लास्ट करने की पहली तारीख 21 अगस्त थी, लेकिन अदालत ने नोएडा प्राधिकरण के अनुरोध को स्वीकार करते हुए टॉवरों के विध्वंस की तारीख 28 अगस्त तक बढ़ा दी. इमारत के नियमों के गंभीर उल्लंघन पर ट्विन टावरों को तोड़ा जा रहा है.

Tags: Noida news, Uttar pradesh news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें