• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • नोएडा : छात्रा के फर्जी अपहरण मामले में नया मोड़, कोर्ट में युवती बोली- परिजनों से मेरी जान को खतरा, प्रेमी के साथ रहूंगी

नोएडा : छात्रा के फर्जी अपहरण मामले में नया मोड़, कोर्ट में युवती बोली- परिजनों से मेरी जान को खतरा, प्रेमी के साथ रहूंगी

कोर्ट ने पुलिस को युवती को उसके प्रेमी के साथ गोंड़ा पहुंचाने का आदेश दिया है.

कोर्ट ने पुलिस को युवती को उसके प्रेमी के साथ गोंड़ा पहुंचाने का आदेश दिया है.

UP Crime News: उत्‍तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा में गुरुवार को 20 साल की छात्रा के अपहरण (Kidnapping) से हड़कंप मच गया था, लेकिन पुलिस (Greater Noida Police)ने 24 घंटे के अंदर युवती को गोंडा से बरामद कर लिया. यही नहीं, जब पुलिस को मामले की हकीकत पता चली तो उसे होश उड़ गए, क्‍योंकि इज्जत बचाने के लिए परिवार ने झूठी कहानी रची थी. वहीं, शनिवार को कोर्ट ने छात्रा को उसके प्रेमी के साथ भेजने का ओदश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:

    ग्रेटर नोएडा. उत्‍तर प्रदेश के ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को मॉर्निंग वॉक (Morning Walk) पर निकली 20 साल की छात्रा के अपहरण (Kidnapping) की कहानी फर्जी (Fake) निकली है, तो शनिवार को इस मामले में नया मोड़ आ गया. इस मामले में ग्रेटर नोएडा पुलिस ने फर्जी एफआईआर दर्ज करा पुलिस को गुमराह करने का मामला दर्ज किया है, तो वहीं युवती को कोर्ट में पेश किया गया. सुनवाई के बाद कोर्ट ने बालिग युवती को उसके प्रेमी के संरक्षण में गोंडा भेज दिया है, क्‍योंकि युवती ने अपने परिवार के साथ रहने इनकार कर दिया है.

    कोर्ट में 164 सीआरपीसी के बयान के दौरान ज्‍योति ने कहा कि उसे अपने परिजनों से जान का खतरा है और वह अपने प्रेमी के साथ रहना चाहती है. इसके बाद कोर्ट ने कोतवाली बादलपुर पुलिस को आदेश दिया कि वह युवती को उसके प्रेमी अनिमेष तिवारी के साथ सकुशल उसके घर गोंडा पहुंचा कर आए. जानकारी के मुताबिक, छात्रा पर घर वाले प्रेम प्रसंग की वजह से काफी दबाव डालते थे, इसलिए उसने अपने प्रेमी के साथ फरार होने का प्‍लान तैयार किया था.

    जानें क्‍या था मामला
    ग्रेटर नोएडा के बादलपुर थाना क्षेत्र में गुरुवार को सुबह 5 बजे मॉर्निंग वॉक पर निकली छात्रा के अपहरण की बात सामने आई थी. अपहरणकर्ता छात्रा को कार में बैठा कर फरार हो गए. शुरू में परिवार द्वारा बताया गया कि अपहरणकर्ता छात्रा अपनी एक बहन और दो भाइयों के साथ मॉर्निंग पर निकली थी, लेकिन वापस नहीं पहुंची. शुरुआत से ही पुलिस को भ्रमित किया गया. पुलिस भी प्रेशर में आकर जांच अपहरण की दिशा में जांच करने लगी, लेकिन पूछताछ में मामला स्पष्ट नहीं होने पर पुलिस अन्य एंगल पर भी जांच कर रही थी. जिसके लिए डीसीपी ने 5 टीमें भी गठित की थीं. परिवार ने पुलिस पर जबरन प्रेशर बनाने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के साथ थाने का घेराव भी किया था. हालांकि अपहरण शुरू से संदेह के घेरे में था, क्योंकि जब युवती स्‍वाति के परिवार से पुलिस ने पूछताछ की तो कोई भी सदस्य स्पष्ट जवाब नहीं दे पाया था. इसके अलावा पुलिस के मुताबिक, सुबह 4.30 बजे कंट्रोल रूम को इस मामले की जानकारी दी गयी थी. जबकि पीड़ित परिजनों ने कहा था कि अपहरण सुबह 6 बजे के आसपास हुआ है.

    OMG! फर्जी निकला 20 साल की छात्रा का अपहरण, इज्जत बचाने के लिए परिवार ने रची कहानी, युवती प्रेमी संग हुई थी फरार

    24 घंटे में मामला खोलने पर मिला इनाम
    पुलिस ने इस मामले को 24 घंटे के भीतर खोल दिया है. हालांकि इस मामले के खुलासे के बाद पुलिस हैरान रह गई, क्‍योंकि परिवार के द्वारा झूठी कहानी बनाई गई ताकि समाज में इज्जत बनी रहे. यही नहीं, इस घटना को सही साबित करने के लिए जीटी रोड पर जाम लगाने के बाद थाने का भी घेराव किया गया था, लेकिन मामले का खुलासा होने से परिवार बेनकाब हो गया है. जबकि इस मामले में लड़की की दिल्‍ली पुलिस में कार्यरत चाचा ने भी झूठी कहानी बनाने में अहम भूमिका निभाई थी. वैसे उत्तर प्रदेश के गृह विभाग ने गौतमबुद्ध नगर पुलिस कमिश्नरेट को घटना का जल्‍दी खुलासा करने के लिए 1 लाख रुपये का इनाम भी दिया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज