होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /किसान चौक-गोलचक्कर के बाद अब एक मूर्ति चौराहे पर उठी अंडरपास की डिमांड

किसान चौक-गोलचक्कर के बाद अब एक मूर्ति चौराहे पर उठी अंडरपास की डिमांड

गोल चक्कर सेक्टर-62 को सिग्नल फ्री बनाने के मास्टर प्लान पर सीआरआरआई की टीम भी काम कर रही है.   (ANI Photo)

गोल चक्कर सेक्टर-62 को सिग्नल फ्री बनाने के मास्टर प्लान पर सीआरआरआई की टीम भी काम कर रही है. (ANI Photo)

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में रहने वाले लोग अक्सर ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) के किसान चौक, परी चौक, एलजी चौक और पीथ्र ...अधिक पढ़ें

नोएडा. ग्रेटर नोएडा (Greater Noida) में भी अब जगह-जगह ट्रैफिक जाम (Traffic Jam) का झाम दिखाई देने लगा है. अब शायद ही कोई ऐसा चौराहा होगा जो जाम से अछूता हो. गोलचक्कर सेक्टर-62 और किसान चौक का जाम अभी खत्म भी नहीं हुआ है और एक मूर्ति चौराहे का जाम जी का जंजाल बनने लगा है. फ्लैट बॉयर्स एसोसिएशन नेफोमा (Nefoma) ने ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी (Greater Noida Authority) के जीएम प्रोजेक्ट के सामने एक मूर्ति चौराहे पर लगने वाले ट्रैफिक जाम का मामला उठाया है. साथ ही वहां जल्द से जल्द अंडरपास (Underpass) बनाने की मांग की है. नेफोमा का आरोप है कि जाम के चलते अब मिनटों का सफर घंटे भर का का हो गया है.

ऑटो बने हैं समस्या तो पैदल वाले भी बहुत गुजरते हैं

सेंट्रल रोड रिसर्च इंस्टीट्यूट (सीआरआरआई) ने ट्रैफिक पुलिस और अथॉरिटी की ट्रैफिक सेल के अधिकारियों संग हुई बैठक के दौरान जाम के पीछे एक बड़ी समस्या ऑटो और ई-रिक्शा का बताया है. जानकारों की मानें तो डग्गेमार बसें भी खड़ी होती हैं. यहां कोई ऑटो स्टैंड भी नहीं है. गोलचक्कर के आसपास से बड़ी संख्या में ऑटो चलते भी हैं और गुजरते भी हैं. इतना ही नहीं यहां पैदल चलने वालों की संख्या भी अच्छी खासी है. नेशनल हाइवे पर ट्रैफिक जाने के साथ ही नोएडा शहर में भी ग्रेटर नोएडा के कई चौराहे से होकर ट्रैफिक एंट्री करता है. इसलिए चौराहे के चारों ओर को ध्यान में रखते हुए मास्टर प्लान पर काम करना होगा.

आपके शहर से (नोएडा)

नोएडा
नोएडा

गोल चक्कर सेक्टर-62 को भी जाम फ्री करने की हो रही कोशिश

गोल चक्कर सेक्टर-62 को सिग्नल फ्री बनाने के मास्टर प्लान पर सीआरआरआई की टीम भी काम कर रही है.  नोएडा अथॉरिटी ने सीआरआरआई को डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट तैयार करने की जिम्मेदारी दी है. सीआरआरआई नोएडा ट्रैफिक पुलिस और नोएडा अथॉरिटी के साथ मिलकर तीन दिन से गोल चक्कर सेक्टर-62 का सर्वे कर रही है. डीपीआर तैयार करने से पहले सीआरआरआई ने बुधवार को ट्रैफिक पुलिस और अथॉरिटी की ट्रैफिक सेल के अधिकारियों संग इस संबंध में एक बैठक भी की.

Twin Tower Blast के दौरान आने-जाने को इन रास्तों का कर सकते हैं इस्तेमाल

अंडरपास बनते ही बढ़ जाएगी वाहनों की संख्या

ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी ने किसान चौक पर अंडरपास की जरूरत को देखते हुए यहां एक सर्वे कराया था. सर्वे करने वाली संस्था राइट्स ने अपनी रिपोर्ट में बताया था कि अभी किसान चौक से करीब 25 हजार वाहन जाम में फंसते हुए यहां से गुजरते हैं. लेकिन अंडरपास बनते ही वाहनों की संख्या 25 से 35 हजार तक हो जाएगी. जानकारों की मानें तो अंडरपास किसान चौक पर सूरजुपर से तिगरी जाने वाले 60 मीटर रोड पर बनाया जाएगा. इतना ही नहीं अंडरपास की डिजाइन और डिटेल प्राजेक्ट रिपोर्ट भी तैयार हो चुकी है.

 किसान चौक पर अभी ऐसे चल रहा है ट्रैफिक

जब किसान चौक पर ट्रैफिक दबाव ज्यादा बढ़ने लगा तो ट्रैफिक पुलिस ने अस्थाई रूप से फौरी व्यवस्था करते हुए चौराहे के दोनों तरफ 130 मीटर रोड पर दो यूटर्न बना दिए. यूटर्न बनने से हुआ यह कि किसान चौक की तरफ से सूरजपुर और नोएडा की ओर जाने वाले वाहन 130 मीटर रोड पर बने यूटर्न से होकर गुजरने लगे. इसी तरह से 130 मीटर रोड या सूरजपुर की तरफ से गौड़ सिटी और प्रताप विहार को जाने वाले वाहन नोएडा की तरफ बने यूटर्न से होकर जाने लगे.

Tags: Delhi-NCR News, Greater Noida Authority, Traffic Jam

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें