होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /ट्विन टावर गिराए जाने पर यूपी BJP अध्यक्ष बोले- अवैध निर्माण के जरिए संपत्ति बनने वालों के लिए सबक

ट्विन टावर गिराए जाने पर यूपी BJP अध्यक्ष बोले- अवैध निर्माण के जरिए संपत्ति बनने वालों के लिए सबक

UP News: बता दें कि ट्विन टावर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद विस्फोटक से उड़ा दिया गया.

UP News: बता दें कि ट्विन टावर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद विस्फोटक से उड़ा दिया गया.

Noida Twin Tower Demolished: यह बिल्डिंग जब बनाई गई थी उस वक्त यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार थी और इसलिए सत्तारूढ़ ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

सरकार करेगी कड़ी कार्रवाई - भूपेंद्र चौधरी
सफल रहा ऑपरेशन, किसी भी इलाके को नहीं पहुंचा नुकसान
ट्विन टावर्स को गिराने में आया करीब 17.55 करोड़ का खर्च

नोएडा/ लखनऊ. नोएडा के ट्विन टावर को रविवार को गिरा दिया गया. 3700 किलोग्राम विस्फोटकों की सहायता से इंजीनियरों ने इस चुनौतीपूर्ण कार्य को सफलतापूर्वक अंजाम दे दिया है. ट्विन टावर को ध्वस्त किए जाने के बाद बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी (Bhupendra Chaudhary) की प्रतिक्रिया सामने आई है. उन्होंने कहा कि भ्रष्टाचार की इमारत आज ढह गई. समाचार एजेंसी एएनआई के मुताबिक भूपेंद्र चौधरी ने कहा, ‘भ्रष्टाचार की इमारत आज ढह गई. जिन लोगों ने अवैध निर्माण के जरिए संपत्ति बनाई है उन्हें यह सबक लेना चाहिए कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर सरकार सभी के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करेगी.’

बता दें कि ट्विन टावर को सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद विस्फोटक से उड़ा दिया गया. पिछले 10 साल से लोग इस अवैध निर्माण के खिलाफ कानूनी कार्रवाई कर रहे थे. बिल्डिंग गिराने का विषय आज पूरे देश में चर्चा का विषय रहा क्योंकि यह अब तक का अनोखा ब्लास्ट था जिसमें आसपास मौजूद इमारतों को किसी भी तरह का कोई नुकसान नहीं पहुंचा, जैसा प्लान किया गया था ठीक उसी अनुरूप ट्विन टावर महज नौ सेकेंड के अंदर जमींदोज हो गया.

आपके शहर से (लखनऊ)

यह बिल्डिंग जब बनाई गई थी उस वक्त यूपी में समाजवादी पार्टी की सरकार थी और इसलिए सत्तारूढ़ पार्टी बीजेपी उसपर हमलावर है.

इस बिल्डिंग के निर्माण में 26 सरकारी अधिकारियों और कर्मचारियों नाम सामने आए हैं जिनमें कई सेवानिवृत्त हो चुके हैं जबकि दो का निधन हो गया है.

Tags: Samajwadi party, Supertech twin tower, UP BJP, UP Politics Big Update, Yogi government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें