रिटायर्ड कर्नल से मारपीट: आरोपी एडीएम अभी भी फरार, गनर और नौकर गिरफ्तार

एसएसपी के मुताबिक रिटायर्ड कर्नल ने जिलाधिकारी से मिलकर एक सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराया, जिसमें एडीएम हरीश चंद्रा अपने साथियों के संग मिलकर कर्नल से कथित तौर पर मारपीट करते नजर आ रहे हैं.

News18 Uttar Pradesh
Updated: August 19, 2018, 4:14 PM IST
रिटायर्ड कर्नल से मारपीट: आरोपी एडीएम अभी भी फरार, गनर और नौकर गिरफ्तार
आरोपियों की फोटो
News18 Uttar Pradesh
Updated: August 19, 2018, 4:14 PM IST
यूपी के नोएडा में रिटायर्ड कर्नल वीरेंद्र सिंह चौहान के साथ 14 अगस्त को कथित मारपीट करने के मामले में पुलिस के सिपाही राहुल नागर और एडीएम के नौकर जितेंद्र अवस्थी को गिरफ्तार किया गया है. इस मामले में पांच आरोपी फरार हैं, जिनकी तलाश की जा रही है. घटना सेक्टर-29 थाने की है. एसएसपी अजय पाल शर्मा ने बताया कि 14 अगस्त को सेक्टर 29 के रहने वाले रिटायर्ड कर्नल वीरेंद्र सिंह चौहान (75 वर्ष) के खिलाफ उनकी पड़ोसी महिला ऊषा चंद्रा ने मारपीट, छेड़छाड़ तथा हरिजन उत्पीड़न कानून के तहत मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस ने कर्नल वीरेंद्र चौहान और उनके साथियों को गिरफ्तार कर लिया था.

एसएसपी ने बताया कि 17 अगस्त को कर्नल चौहान ने जेल से जिलाधिकारी को एक पत्र लिखा. पत्र में उन्होंने बताया कि महिला जनपद, मुजफ्फरनगर में तैनात अपर जिलाधिकारी हरीश चंद्रा की पत्नी है और उनके प्रभाव में ही कर्नल के खिलाफ झूठा मुकदमा दर्ज कराया था. एसएसपी के मुताबिक रिटायर्ड कर्नल ने भी जिलाधिकारी से मिलकर एक सीसीटीवी फुटेज उपलब्ध कराया, जिसमें हरीश चंद्रा अपने साथियों के संग मिलकर कर्नल से कथित तौर पर मारपीट करते नजर आ रहे हैं.

उन्होंने बताया कि डीएम के आदेश के बाद शनिवार को इस मामले में हरीश चंद्रा, ऊषा चंद्रा, अनुराग चन्द्रा, उनके गनर राहुल नागर, रोहित गुजराल, प्रशांत नागर, जितेंद्र अवस्थी के खिलाफ हत्या के प्रयास, मारपीट कर जान से मारने की धमकी देने सहित विभिन्न धाराओं में मुकदमा दर्ज किया गया. उन्होंने बताया कि पुलिस ने जितेंद्र अवस्थी और राहुल नागर को गिरफ्तार कर लिया है. बाकी आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीम छापेमारी कर रही है.

इस मामले में कर्नल वीरेंद्र सिंह चौहान का कहना है कि उनके पड़ोस में रहने वाले हरीश चंद्रा अपने घर पर अवैध निर्माण करा रहे थे. इसकी शिकायत उन्होंने नोएडा प्राधिकरण में की थी. कर्नल चौहान का आरोप है कि हरीश चंद्रा पूर्व में नोएडा प्राधिकरण में तैनात रह चुके हैं इसलिए उनकी शिकायत पर कार्रवाई नहीं की गई. शिकायत के बाद हरीश चंद्रा खासे नाराज भी हो गए. फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है.

(रिपोर्ट: कुणाल)

यह भी पढ़ें:

मिर्जापुर: कस्तूरबा गांधी विद्यालय में एक लड़की की मौत से हड़कंप, वार्डन निलंबित, जांच के आदेश

देवरिया शेल्‍टर होम: तीन दिन की रिमांड पर एनजीओ संचालिका और अन्‍य

आजमगढ़: 24 घंटे में दूसरा एनकाउंटर, दो 50-50 हजार के इनामी घायल, गिरफ्तार

 
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर