Home /News /uttar-pradesh /

UPPET Paper Leak : दिल्ली के जिस पते पर दिया गया ठेका, वहां वर्षों से है बीयर गोदाम

UPPET Paper Leak : दिल्ली के जिस पते पर दिया गया ठेका, वहां वर्षों से है बीयर गोदाम

परीक्षा नियामक प्राधिकार सचिव संजय उपाध्याय ने दोस्ती के नाम पर दे दिया राय अनूप प्रसाद को पेपर छपाई का ठेका.

परीक्षा नियामक प्राधिकार सचिव संजय उपाध्याय ने दोस्ती के नाम पर दे दिया राय अनूप प्रसाद को पेपर छपाई का ठेका.

Friend In Need Is Friend Indeed : एसटीएफ के अधिकारियों की मानें तो परीक्षा नियामक प्राधिकार सचिव संजय उपाध्याय और राय अनूप प्रसाद पुराने दोस्त हैं और इनकी दोस्ती के चलते ठेका बिना किसी जांच के दे दिया गया था. यह भी नहीं देखा गया कि जिस फर्म को ठेका दिया गया उसके पास प्रिंटिंग प्रेस है भी या नहीं. इस बात को लेकर अनूप प्रसाद और संजय उपाध्याय से एसटीएफ ने पूछताछ की तो खुलासा हुआ कि दोनों की दोस्ती तब हुई जब शिक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गौतमबुद्ध नगर में बतौर डाइट के प्राचार्य पद पर तैनात थे.

अधिक पढ़ें ...

नोएडा. UPTET परीक्षा में पेपर प्रिंट कराने में बरती गई लापरवाही की परतें अब एक-एक कर सामने आ रही हैं. दोस्ती के चलते ही ऐसे फर्म को पेपरों की प्रिंटिंग का ठेका दे दिया गया, जिसके पास अपना प्रिंटिंग प्रेस भी नहीं. ठेके के लिए जारी पत्र में दिल्ली का जो पता दिया गया है, वहां पर वर्षों से बीयर गोदाम चल रहा है. इसके अलावा आरएसएस फिनसर्व लिमिटेड फर्म ई-एग्जाम कराने में एक्सपर्ट है.

बता दें कि टीईटी का पेपर छापने का ठेका राय और प्रसाद की फर्म आरएसएस फिनसर्व लिमिटेड को 13 करोड़ रुपये में दिया गया था. कुल 23 लाख पेपर छापने थे. पेपर छापने का ऑर्डर बी 2/68, मोहन कोऑपरेटिव एरिया फेस-2 बदरपुर, नई दिल्ली के नाम पर आर्डर जारी किया गया था. इस पते पर मौजूद फर्म की जब सत्यता जांची गई, तो खुलासा हुआ कि इस पते पर कोई प्रिंटिंग प्रेस नहीं है, बल्कि यह फर्म ऑनलाइन परीक्षा कराती है. इस फर्म ने पेपर छपाई का काम सबलेड कर रखा था.

एसटीएफ के अधिकारियों की मानें तो परीक्षा नियामक प्राधिकार सचिव संजय उपाध्याय और राय अनूप प्रसाद पुराने दोस्त हैं और इनकी दोस्ती के चलते ठेका बिना किसी जांच के दे दिया गया था. यह भी नहीं देखा गया कि जिस फर्म को ठेका दिया गया उसके पास प्रिंटिंग प्रेस है भी या नहीं. इस बात को लेकर अनूप प्रसाद और संजय उपाध्याय से एसटीएफ ने पूछताछ की तो खुलासा हुआ कि दोनों की दोस्ती तब हुई जब शिक्षा नियामक प्राधिकारी संजय उपाध्याय गौतमबुद्ध नगर में बतौर डाइट के प्राचार्य पद पर तैनात थे. इसी दोस्ती के चलते टीईटी पेपर की छपाई का काम रायडू प्रसाद को मिला और उसने सरकार से ठेका लेकर 4 अन्य प्रिंटिंग प्रेस को पेपर छापने के लिए दे दिया. इन्हीं में से हुई लापरवाही के चलते पेपर लीक हुआ और इस मामले में अभी तक एसटीएफ ने 36 लोगों की गिरफ्तारी की है.

एसटीएफ लगातार इस मामले में कार्रवाई कर रही है, जबकि अब इस मामले ने राजनीतिक रंग भी लेना शुरू कर दिया है. समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी इस मामले पर ट्वीट किया और भारतीय जनता पार्टी पर निशाना साधा है.

Tags: Noida news, UP latest news, UP TET Exam Paper Leak

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर