Home /News /uttar-pradesh /

Opinion - जेवर एयरपोर्ट के बनते ही 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य होगा UP

Opinion - जेवर एयरपोर्ट के बनते ही 5 इंटरनेशनल एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य होगा UP


आंगन के अलावा एयपोर्ट की छत को भी भारतीय इतिहास की परंपरा की झलक देखने को मिलेगी. एयरपोर्ट की
छत पर गंगा, यमुना और सरस्वती नदी के बहते हुए जल को दिखाया गया. जाहिर है कि छत पर तीन नदियों के संगम को बहते हुए दिखाने की प्रेरणा संगम नगरी प्रयागराज से ली गई है.

आंगन के अलावा एयपोर्ट की छत को भी भारतीय इतिहास की परंपरा की झलक देखने को मिलेगी. एयरपोर्ट की छत पर गंगा, यमुना और सरस्वती नदी के बहते हुए जल को दिखाया गया. जाहिर है कि छत पर तीन नदियों के संगम को बहते हुए दिखाने की प्रेरणा संगम नगरी प्रयागराज से ली गई है.

Foundation Stone of Jewar Airport: 2012 से पहले प्रदेश में लखनऊ और वाराणसी दो ही इंटरनेशनल एयरपोर्ट थे. पिछले महीने ही प्रधानमंत्री ने कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का लोकार्पण किया था. अयोध्या इंटरनेशनल एयरपोर्ट का काम भी तेजी से चल रहा है. उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत तक यह लोगों के लिए खोल भी दिया जाएगा. आज जेवर एयरपोर्ट की आधारशिला भी रखी जाएगी. बताया जा रहा है कि 2024 में इस एयरपोर्ट की शुरुआत हो जाएगी.

अधिक पढ़ें ...

    नोएडा. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) आज यानि 25 नवंबर 2021 को उत्तर प्रदेश को एक और इंटरनेशनल एयरपोर्ट की सौगात देने जा रहे हैं. प्रधानमंत्री नोएडा (Noida) के जेवर (Jewar) में एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट की दोपहर 1 बजे आधारशिला रखेंगे. इस एयरपोर्ट के शुरू हो जाने के बाद उत्तर प्रदेश पांच अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट वाला देश का पहला राज्य बन जाएगा. गौरतलब है कि 2012 से पहले प्रदेश में लखनऊ और वाराणसी दो ही इंटरनेशनल एयरपोर्ट थे. पिछले महीने ही प्रधानमंत्री ने कुशीनगर में अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का लोकार्पण किया था. अयोध्या इंटरनेशनल एयरपोर्ट का काम भी तेजी से चल रहा है. उम्मीद है कि अगले साल की शुरुआत तक यह लोगों के लिए खोल भी दिया जाएगा. आज जेवर एयरपोर्ट की आधारशिला भी रखी जाएगी. बताया जा रहा है कि 2024 में इस एयरपोर्ट की शुरुआत हो जाएगी.

    मौजूदा समय की बात करें तो सूबे में आठ एयरपोर्ट्स संचालित हो रहे हैं, जबकि 13 एयरपोर्ट्स और सात एयर स्ट्रिप्स निर्माणाधीन हैं. जिन एयरपोर्ट्स से कमर्शियल फ्लाइट्स उड़ान भर रही हैं उनमें लखनऊ, वाराणसी, कुशीनगर, गोरखपुर, आगरा, कानपुर, प्रयागराज और गाजियाबाद का हिंडन शामिल है. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री के मिशन गति शक्ति को धरातल पर उतारने के लिए योगी सरकार संकल्पबद्ध  है. यही वजह है कि सड़क से लेकर हवाई यात्रा तक का इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप किया जा रहा है.

    जेवर एयरपोर्ट को लेकर सीएम योगी ने किया ये KOO

    2024 में पूरा होगा पहला चरण
    जेवर एयरपोर्ट की परियोजना का पहला चरण वर्ष 2024 तक 10,050 करोड़ रुपये से अधिक की अनुमानित लागत से पूरा किया जाना है. 1300 हेक्टेयर से अधिक जमीन पर फैली यह परियोजना प्रति वर्ष 1.2 करोड़ यात्रियों को अपनी सेवा देगी. पीएमओ ने कहा कि पहले चरण के लिए भूमि अधिग्रहण से संबंधित और प्रभावित परिवारों के पुनर्वास का काम पूरा कर लिया गया है. नोएडा में बन रहा एयरपोर्ट, दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में दूसरा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट होगा और इससे इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का दबाव कम होगा. रणनीतिक नजरिये से नोएडा अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट का अलग महत्व होगा और इससे दिल्ली, नोएडा और गाजियाबाद के अलावा अलीगढ़, आगरा, फरीदाबाद और पड़ोसी क्षेत्र के लोगों की जरूरतें पूरी होंगी.

    Tags: Airports, Jewar airport

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर