अब नर्सिंग होम संचालकों को ब्याज के साथ लौटानी होगी फीस से ज्यादा वसूली गई रकम

गौतम बुद्ध नगर के डीएम ने तय फीस से ज्यादा वसूलने वाले अस्पतालों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराने के आदेश दिए हैं. Demo Pic

गौतम बुद्ध नगर के डीएम ने तय फीस से ज्यादा वसूलने वाले अस्पतालों के खिलाफ एफआईआर भी दर्ज कराने के आदेश दिए हैं. Demo Pic

एक बैठक के दौरान डीएम ने यह आदेश जारी किए हैं. गौरतलब रहे बीते दिनों से इस तरह की कई शिकायतें आई हैं कि कोरोना (Corona) के इलाज के लिए अधिकारिक नर्सिंग होम (Nursing Home) तय फीस से ज्यादा वसूल रहे हैं.

  • Share this:

नोएडा. अब नर्सिंग होम संचालकों को कोरोना के इलाज के लिए पहले से तय फीस ही कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मरीज से लेनी होगी. यह फीस यूपी सरकार (UP Government) तय कर चुकी है. अगर कोई नर्सिंग होम संचालक ऐसा नहीं करता है तो उसे ज्यादा ली गई फीस मय ब्याज के पीड़ित मरीज को लौटानी होगी. गौतम बुद्ध नगर के डीएम सुहास एल वाई ने यह आदेश जारी किए हैं. आरडब्ल्यू और कोविड-19 (Covid-19) टीम के संग हुई एक बैठक के दौरान डीएम ने यह आदेश जारी किए हैं. गौरतलब रहे बीते दिनों से इस तरह की कई शिकायतें आई हैं कि कोरोना के इलाज के लिए अधिकारिक नर्सिंग होम (Nursing Home) तय फीस से ज्यादा वसूल रहे हैं.

ब्याज के साथ होगी वसूली और दर्ज कराई जाएगी FIR

डीएम सुहास एल वाई ने बैठकों को संबोधित करते हुए कहा कि जिले में कोरोना को लेकर जिन प्राइवेट अस्पतालों ने सरकार द्वारा निर्धारित दरों से ज्यादा फीस वसूली है उनके खिलाफ जिला प्रशासन कार्रवाई करेगा. शिकायत दर्ज करने के लिए जिला प्रशासन की ओर से एक व्हाट्सएप नंबर भी जारी किया गया है.

Youtube Video

नंबर पर जो शिकायतें आ रही हैं उनके संबंध में डीएम का कहना है जिन अस्पतालों से ज्यादा फीस लेने की शिकायतें मिली हैं ऐसे केस में जिला प्रशासन ने उस रकम को ब्याज के साथ पीड़ित को वापस दिलाएगा. साथ ही अगर किसी अस्पताल ने जानबूझकर ऐसी गलती कि है तो उसके खिलाफ कोविड-19 अधिनियम के तहत एफआईआर भी दर्ज कराई जाएगी.

Delhi-NCR News: नोएडा के इस रोड पर अभी नहीं मिलेगाा जाम से आराम, अटक गया एलिवेटेड रोड का काम

तीसरी लहर से निपटने को आईटीआई में तैयार हो रहे हैं कोरोना वॉरियर्स



व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री संग हुई एक बैठक में तय किया गया है कि गौतम बुद्ध नगर समेत मेरठ मंडल के सभी जिलों के 6 हेल्थ सेक्टर में 1254 कोरोना वॉरियर्स तैयार किए जा रहे हैं. यह कोरोना वॉरियर्स आईटीआई के तहत तैयार किए जा रहे हैं. इन्हें 27 दिन की ट्रेनिंग दी जाएगी. 27 दिन की ट्रेनिंग देकर केरोना वॉरियर्स तीसरी लहर के लिए तैयार किए जा रहे हैं.


तीसरी लहर में यह सभी कोरोना वॉरियर्स जनता की सेवा करेंगे. यह ट्रेनिंग पीएमकेवाई योजना के तहत दी जा रही है. और ज्यादा से ज्यादा कोरोना वॉरियर्स तैयार करने के लिए कोर्स में ज्यादा से ज्यादा लोगों को प्रवेश देने की योजना पर काम चल रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज