AMU मेडिकल कॉलेज में हुआ ब्लैक फंगस के रोगियों का ऑपरेशन, डॉक्टरों ने दी यह जरूरी सलाह

ब्लैक फंगस के रोगी का ऑपरेशन करती एएमयू मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की टीम.

ब्लैक फंगस के रोगी का ऑपरेशन करती एएमयू मेडिकल कॉलेज के डॉक्टरों की टीम.

कोरोना (Corona) से ठीक होने के बाद ऐसे मरीजों को नाक में रुकावट, चेहरे में दर्द, सूजन, चेहरे का सुन्न होना, आंखों में धुंधलापन और आंखों से पानी आने की परेशानी हो रही थी.

  • Share this:

operationअलीगढ़. अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय (AMU) के जवाहरलाल मेडिकल कॉलेज (JNMC) के ओटोलरींगोलाजी विभाग में ब्लैक फंगस (Black Fungus) के दो मरीजों का ऑपरेशन किया गया है. ऑपरेशन कामयाब रहा है. मेडिकल कॉलेज में लगातार इस तरह के मरीज आ रहे हैं. मरीज की हालत को देखते हुए ऑपरेशन करने जैसा कदम उठाया जा रहा है. ऑपरेशन (Operation) करने वाले डॉक्टरों का कहना है कि कोरोना (Corona) से ठीक होने के बाद ऐसे मरीजों को नाक में रुकावट, चेहरे में दर्द, सूजन, चेहरे का सुन्न होना, आंखों में धुंधलापन और आंखों से पानी आने की परेशानी हो रही थी.

ऑपरेशन करने वाले डॉक्टरों ने दी यह चेतावनी

मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल प्रोफेसर शाहिद-ए-सिद्दीकी का कहना है, कोविड के मरीज ठीक होने के दो या तीन हफ्ते बाद ब्लैक फंगस का शिकार हो सकते हैं. इन मामलों में पूरे देश में वृद्धि हुई है. अगर ब्लैक फंगस के लक्षणों की बात करें तो नाक बन्द होना, नाक गुहा में सूखी और काली परत का जमा होना, नाक तथा आंखों के आसपास काले धब्बे होना, आंखों में लाली और मिचमिचाहट, आंखों के ढेले (आई बॉल) की गति में कमी, नजर का अचानक कम हो जाना, मुंह के अंदर खासतौर से तालू पर काले धब्बे होने जैसे लक्षण सामने आते हैं.

हमारी सलाह है कि कोविड से ठीक होने वाले मरीज इस तरह के लक्षण दिखाई देने पर खुद से अपना किसी भी तरह को इलाज न करें और फौरन ही डॉक्टर से बात करें और होने वाली परेशानी बताएं. साथ ही अगर कोई डायबिटीज का मरीज है तो वो खासतौर से अपनी डायबिटीज को नियंत्रण में रखे.

Operation, Black Fungus, AMU, JN Medical College aligarh, doctors, corona, ऑपरेशन, ब्लैक फंगस, एएमयू, जेएन मेडिकल कॉलेज अलीगढ़, डॉक्टर, कोरोना
ब्लैक फंगस के रोगियों का ऑपरेशन करने वाली डॉक्टरों की टीम.

खुशखबरी! सरकार के इन 3 कदम से सस्ता होगा सरसों और रिफाइंड तेल, जानें कितने गिरेंगे रेट्स

65 साल के व्यक्ति और 22 साल के युवक का किया ऑपरेशन



ऑपरेशन करने वाली टीम के लीडर और ओटोलरींगोलाजी विभाग के प्रोफेसर मोहम्मद आफताब और नेत्र विज्ञान विभाग के डॉ. वजाहत रिजवी ने बताया कि हाल ही में हमारी टीम ने 65 साल के मोहन लाल और 22 साल के विवेक का सफलता पूर्वक ऑपरेशन किया गया. दोनों मरीज हाल ही में कोविड-19 से उबरे थे.


प्रोफेसर आफताब का कहना है कि मोहन लाल और विवेक पर बिना किसी चीरे के एंडोस्कोपिक प्रक्रिया को अंजाम दिया गया, जिससे उनकी रिकवरी आसान, बहुत ही मामूली दर्द के साथ जल्द ही हो गई. इन मरीजों को कड़ी निगरानी में रखा गया क्योंकि ब्लैक फंगस एक बहुत ही आक्रामक बीमारी है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज