स्वरूपानंद सरस्वती का ऐलान- '21 फरवरी को अयोध्या में रखेंगे राम मंदिर की नींव'

News18Hindi
Updated: January 30, 2019, 8:23 PM IST
स्वरूपानंद सरस्वती का ऐलान- '21 फरवरी को अयोध्या में रखेंगे राम मंदिर की नींव'
परम धर्म संसद

परम धर्म संसद के प्रमुख संत स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि 21 फरवरी को अयोध्या में मंदिर की नींव रखी जाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 30, 2019, 8:23 PM IST
  • Share this:
सरकार को सीधे चुनौती देते हुए परम धर्म संसद ने अयोध्या में राम मंदिर बनाने का ऐलान कर दिया है. परम धर्म संसद के प्रमुख संत स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा है कि 21 फरवरी को अयोध्या में मंदिर की नींव रखी जाएगी.

राम मंदिर निर्माण को लेकर प्रयागराज कुंभ में पिछले दो दिनों से परम धर्म संसद में की बैठक चल रही थी. संत स्वरूपानंद सरस्वती ने कहा, ''राम जन्मभूमि के लिए बलिदान देने का समय आ गया है. मंदिर के लिए शांति पूर्ण और अहिंसक आंदोलन चलाया जाएगा. बसंत पंचमी के बाद हम सब अयोध्या प्रस्थान करेंगे. अगर हमें रोका गया तो हमलोग गोली खाने के लिए भी तैयार हैं.''

अयोध्‍या मामला: सिर्फ 0.313 एकड़ जमीन पर अटक गया पूरा केस!

बता दें कि अयोध्या में मंदिर निर्माण का मुद्दा फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में अटका है. 29 जनवरी को इस मामले में सुनवाई होनी थी. लेकिन 5 जजों की बेंच में जस्टिस एसए बोबडे की गैर-मौजूदगी के चलते सुनवाई को टाल दिया गया.

इससे पहले अयोध्या विवाद को लेकर मोदी सरकार बड़ा दांव चलते हुए सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई. सरकार ने रिट पिटीशन दायर कर विवादित जमीन को छोड़कर बाकी जमीन यथास्थिति हटाने की मांग की है. उन्होंने इसे रामजन्म भूमि न्यास को लौटाने को कहा है. सरकार ने कोर्ट से कहा है कि विवाद सिर्फ 0.313 एकड़ जमीन पर ही है. बाकी जमीन पर कोई विवाद नहीं है, लिहाजा इस पर यथास्थिति बरकरार रखने की जरूरत नहीं है.

बता दें सुप्रीम कोर्ट ने विवादित जमीन सहित 67 एकड़ जमीन पर यथास्थिति बनाने को कहा था. लेकिन, केंद्र के इस स्टैंड के बाद अयोध्या में विवादित स्थल का मामला सिर्फ 0.313 एकड़ भूमि तक ही अटक कर रह गया है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए फैजाबाद से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 30, 2019, 6:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...