शंकरलाल हत्याकांड का खुलासा: बेटी ने अपने जीजा के साथ मिलकर पिता को उतार दिया मौत के घाट

जमीन के लालच में बेटी ने अपने जीजा के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची और दिनदहाड़े 70 वर्षीय शंकरलाल की हत्‍या कर दी.

Arj Dev Singh | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 18, 2019, 6:48 PM IST
शंकरलाल हत्याकांड का खुलासा: बेटी ने अपने जीजा के साथ मिलकर पिता को उतार दिया मौत के घाट
पुलिस ने शंकरलाल के हत्‍यारे बेटी और दामाद को गिरफ्तार किया है.
Arj Dev Singh | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 18, 2019, 6:48 PM IST
उत्‍तर प्रदेश की पीलीभीत पुलिस ने शंकरलाल हत्याकांड का खुलासा करते हुए सगी बेटी और दामाद को अरेस्ट कर लिया. जमीन के लालच में बेटी ने अपने जीजा के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची और दिनदहाड़े ही आरोपी दामाद ने गोलीमार कर हत्या की वारदात को अंजाम दे डाला. जबकि इस मामले का खुलासा करने वाली टीम को पुलिस अधीक्षक ने  5 हजार का ईनाम देने की घोषणा की है.

बेटी ने ही ले ली पिता की जान
कलयुगी बेटे ने नहीं बल्कि सगी बेटी ने ही अपने जीजा के साथ मिलकर पिता की हत्या की साजिश रच डाली और बीती 17 जुलाई बुधवार को आरोपी दामाद ओमप्रकाश पांडेय ने 315 बोर के तमंचे से गोलीमार कर अपने ससुर की हत्या कर दी. सूचना के बाद पुलिस मौके पर पहुंची और शव को पोस्‍टमार्टम के लिए भेज दिया गया था. इधर पुलिस ने ताफ्तीश शुरू कर दी थी. एसपी मनोज कुमार के निर्देश पर स्वाट व सर्विलांस टीम ने जांच के बाद आरोपियों की तलाश शुरू कर दी थी. आखिरकार इस हत्याकांड में और कोई नहीं बल्कि थाना पूरनपुर इलाके के मोहम्मदपुर गांव के रहने वाले 70 वर्षीय मृतक शंकरलाल की सगी बेटी नीलम पांडेय निवासी ग्राम पिपरिया जयभद्र, थाना पूरनपुर और उसका जीजा ओमप्रकाश पांडेय निवासी, ग्राम महमंदपुर, थाना पूरनपुर ही हत्यारे निकले. वहीं, दिनदहाड़े गोली मार कर हत्या किये जाने मामले में इन दोनों के पकड़े जाने से इलाके में हड़कंप मच गया.

पुलिस ने किया खुलासा

आज पुलिस अधीक्षक कार्यालय में हत्याकांड का खुलासा करने के बाद दोनों को जेल भेज दिया गया है. दरअसल, मृतक शंकरलाल की 6 एकड़ जमीन है और उनकी बड़ी बेटी सुनीता की शादी आरोपी ओमप्रकाश से हुई थी. इसके अलावा शंकरलाल की 3 ओर बेटियां (नन्ही, उषा, नीलम) की भी शादी हो चुकी है. मृतक का कोई बेटा न होने की वजह से शंकरलाल अपनी जमीन व दोनों मकान अपने भतीजे गोपी को देकर सास इशरावती से शादी करना चाहते थे, जोकि आरोपी बेटी नीलम व दामाद ओमप्रकाश को सही नहीं लगा और साजिशन हत्या कर ये दोनों लोग बाइक से गांव आ गए. पुलिस ने जब इस मामले में जांच शुरू की तो दोनों हत्‍या करने के जुर्म में पकड़े गए हैं.

ये भी पढ़ें - इन दुकानदारों को नहीं मिलेगी 3000 रुपये वाली पेंशन, जानें किसे मिलेगा फायदा

बसपा सुप्रीमो मायावती के भाई की 400 करोड़ रुपए की बेनामी संपत्ति जब्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पीलीभीत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 18, 2019, 6:44 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...