VIDEO : नहीं मिला शव वाहन तो भाई को ठेले पर ले जाना पड़ा शव

मृतक के भाई का कहना है कि उसने शव वाहन का इंतजाम करने के लिए हर संभव प्रयास किया. लेकिन पोस्टमार्टम हाउस में मौजूद डॉक्टरों ने उसकी कोई मदद नहीं की.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2018, 1:37 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2018, 1:37 PM IST
यूपी के पीलीभीत में एक शख्स को पोस्टमार्टम के बाद मृतक भाई के शव को ठेले पर लादकर श्मशान ले जाना पड़ा. शव को पीलीभीत के मुख्य मार्गो से श्मशान भूमि ले जाया गया. लेकिन किसी भी अधिकारी ने इसकी सुध नहीं ली.

मामला नगर कोतवाली इलाके का है. मृतक के भाई का कहना है कि उसने शव वाहन का इंतजाम करने के लिए हर संभव प्रयास किया. लेकिन पोस्टमार्टम हाउस में मौजूद डॉक्टरों ने उसकी कोई मदद नहीं की. पीड़ित भाई ने शव वाहन के ड्राइवरों से भी गुहार लगाई. लेकिन ड्राइवरों ने 500 रुपये की मांग की. मजबूर पीड़ित के पास 5 सौ रुपये नहीं थे. इस वजह से उसे शव को खुद से खींच कर ठेले पर ले जाना पड़ा.

इस मामले में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक (सीएमएस) डा. रतनपाल सिंह ने कहा कि पोस्टमार्टम के बाद वाहन दिलाने की जिम्मेदारी उनकी नहीं होती है. उसने शव वाहन के लिए कहा भी नहीं होगा.

जबकि मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा. ओपी सिंह ने बताया कि मामले की जानकारी होने के बाद वो पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे. लापरवाही पाए जाने के बाद वहां मौजूद टीम की फटकार लगाते हुए दोबारा इस तरह के कार्य नहीं होने की चेतावनी दी. सीएमओ ने बताया कि उस वक्त वो शासन द्वारा एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में व्यस्त थे. इससे इस तरह की लापरवाही उनके स्टाफ द्वारा की गई.

बताया जा रहा है कि मृतक लौकी राम बरेली जिला के सेथल का स्थाई निवासी था. वह पीलीभीत के नगर कोतवाली के बाग गुलशेर खां में रहने लगा था. दो दिन पहले पीलीभीत रोडवेज के पास इसका शव बरामद किया गया था.

(अर्ज देव सिंह की रिपोर्ट)
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर