पीलीभीत: दबिश के दौरान महिला की मौत, पुलिसकर्मियों पर FIR के आदेश

बता दें कि नगर के मोहल्ला साहूकारा लाइनपार निवासी हाजी सिद्दीक ने चार दिन पूर्व तहरीर देते हुए आरोप लगाया था कि कोतवाली के एसएसआई और सिपाहियों ने घर पर दबिश देकर महिलाओं से अभद्रता की थी.

Arj Dev Singh | News18Hindi
Updated: October 26, 2018, 2:46 PM IST
पीलीभीत: दबिश के दौरान महिला की मौत, पुलिसकर्मियों पर FIR के आदेश
सांकेतिक तस्वीर
Arj Dev Singh | News18Hindi
Updated: October 26, 2018, 2:46 PM IST
पीलीभीत के पूरनपुर नगर में चार दिन पहले पुलिस की दबिश के दौरान महिला की मौत के मामले में शुक्रवार को एसपी के आदेश के बाद पांच पुलिस कर्मियों के खिलाफ एफआईआर के आदेश दिए है. पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह ने एएसपी की रिपोर्ट मिलने के बाद पूरनपुर कोतवाली के आरोपी एसएसआई उदयवीर सिंह चौहान और पांच पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया था. फिलहाल पुलिस घटना की जांच कर रही है.

बता दें कि पूरा मामला पीलीभीत के पूरनपुर कोतवाली इलाके का है. यहां मोहल्ला कुरैशियान में एक मामूली विवाद में पुलिस दोनों पक्षों के घर पहुंच गई, जिसमें एक पक्ष के इरशाद को पुलिस ने गिरफ्तार किया. आरोप है कि इस दौरान पुलिसकर्मियों ने घर की महिलाओं व बच्चों से भद्रता की. बेटे की गिरफ्तारी के महिला हज्जन नसीम बेगम की हार्ट अटैक के बाद मौत हो गई.

महिला की मौत की सूचना के बाद पुलिस के हाथ-पैर फूल गए और उसके बेटे इरशाद को कोतवाली से ये कहकर छोड़ दिया की उसकी मां छत से गिर पड़ी है. इस मामले में मृतका के बेटे ने आरोप लगाया है कि पुलिस 10 हजार की मांग कर रही थी और मेरी मां को धक्का भी दे दिया, जिसके बाद वो मर गई.

पुलिस अधीक्षक बालेन्दु भूषण सिंह


एएसपी रोहित मिश्र की जांच रिपोर्ट मिलने के बाद आरोपी पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया गया. इस मामले में एसपी ने कहा कि कोतवाल केशव कुमार तिवारी की भूमिका भी संदिग्ध पाई गई है. उनके खिलाफ भी कार्रवाई की जा रही है.

ये भी पढ़ें:

शिवपाल की सदस्यता खत्म करने पर बोले अखिलेश, ऐसा कोई काम नहीं करेंगे जिससे अन्याय हो
Loading...

बहराइच में लगे 'पाकिस्तान जिंदाबाद' के नारे, VIDEO वायरल

लखनऊ में बड़े रैकेट का भंडाफोड़, केमिकल और पानी मिलाकर बेच रहे थे नकली खून 
First published: October 26, 2018, 2:45 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...