Home /News /uttar-pradesh /

मिलिए हिटलर बाबा से: चुनावी 'जुए' में बेच चुके हैं सबकुछ, अब पत्‍नी को चुनाव लड़ाने के लिए मांग रहे भीख

मिलिए हिटलर बाबा से: चुनावी 'जुए' में बेच चुके हैं सबकुछ, अब पत्‍नी को चुनाव लड़ाने के लिए मांग रहे भीख

पीलीभीत में हिटलर बाबा अनोखे प्रत्याशी हैं जिन्होंने चुनाव में सबकुछ गंवा दिया और अब भीख मांगकर पर्चा भरेंगे. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

पीलीभीत में हिटलर बाबा अनोखे प्रत्याशी हैं जिन्होंने चुनाव में सबकुछ गंवा दिया और अब भीख मांगकर पर्चा भरेंगे. (न्‍यूज 18 हिन्‍दी)

UP Assembly Elections 2022: उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में हिटलर बाबा अनोखे प्रत्याशी हैं. वह विधानसभा, लोकसभा और अन्‍य चुनाव लड़ते हैं. इस बार वह अपनी पत्नी को चुनाव लड़ाने के लिए लोगों से जमानत राशि जुटाने के लिए भीख मांग रहे हैं. वह एक बार जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत भी चुके हैं.

अधिक पढ़ें ...

सैय्यद कयाम रजा

पीलीभीत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पीलीभीत (Pilibhit) में एक अनोखा प्रत्याशी सामने आया है. अनोखा इसलिए कि इन्‍होंने चुनाव लड़ने के लिए पैसा जुटाने को लेकर लोगों से भीख मांग रहे हैं. वह पहले भी लोकसभा और विधानसभा का चुनाव लड़ चुके हैं. एक बार तो जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत भी चुके हैं, लेकिन इस चुनावी चस्के में वह अपनी जमीन, दुकान और कार तक बेच चुके हैं. वह चुनाव को जुआ बताते हुए कहते हैं कि वह इसे खेलते रहेंगे और इस बार भी चुनाव पर्चा दाखिल करने के लिए धनराशि जुटाने के लिए लोगों से चंदा मांग रहे हैं. पीलीभीत के मधो टांडा के रहने वाले 55 वर्षीय रामवतार उर्फ हिटलर बाबा के पारिवार में पत्नी व एक बेटी है. बेटी की उन्होंने शादी कर दी. इलाके में हिटलर बाबा के नाम से मशहूर रामवतार को सिर्फ एक ही शौक है और वह है राजनेता बनना.

रामवतार उर्फ हिटलर बाबा चार बार विधानसभा चुनाव, दो बार सांसद का चुनाव लड़ चुके हैं. तीन बार जिला पंचायत सदस्य का चुनाव भी भीख मांग कर लड़ चुके हैं, जिसमें उनको एक बार लोगों ने जिला पंचायत का सदस्य भी चुन लिया था. अपने सरल स्वभाव के कारण वह कुछ न कर सके और दूसरा चुनाव हार गए.

क्या कहते हैं रामवतार?
55 वर्षीय रामवतार उर्फ हिटलर बाबा का कहना है कि वह राजनेता बनने के लिए हर तरीके का जुआ खेल सकते हैं. इस जुआ को जीतने के लिए उन्होंने अपने घर की 3 एकड़ जमीन, एक दुकान और एक चार पहिया गाड़ी तक बेच डाली है. आज के समय में उनके पास सिर्फ एक मोटरसाइकिल है, जिसमें पेट्रोल भी वह पैसे मांगकर डलवाते हैं. वह लोगों से भीख मांग कर ही आगामी चुनाव लड़ने की तैयारी में हैं.

UP Chunav: सीएम योगी बोले- तमंचावादी पार्टी का प्रत्‍याशी दे रहा धमकी…अभी इनकी गर्मी शांत नहीं हुई है 

उनका कहना है कि यह विधानसभा चुनाव वह अपनी पत्नी को लड़वाएंगे तथा आने वाला संसदीय चुनाव वह खुद लड़ेंगे. राम अवतार का यह भी कहना है कि इससे बड़ा जुआ कोई नहीं हो सकता है. एक बार बड़े राजनेता बन जाओ फिर जिंदगी भर आराम और ऐश करो.

इस तरह जुटा रहे चंदा
रामअवतार और हिटलर बाबा इस विधानसभा चुनाव को लड़ने के लिए अभी तक के 3000 रुपये का चंदा इकट्ठा कर चुके हैं. वह 2000 रुपये चंदे के लिए जगह-जगह लोगों से मदद की गुहार लगाते देखे जा रहे हैं. उनके लिए ये अजीव शौक है, जिसके लिए हिटलर बाबा ने अपनी पूरी जिंदगी राजनेता बनने के लिए काट दी.

Tags: Electoral gambling, Hitler Baba elections, Pilibhit unique candidate, UP Assembly Elections 2022, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर