लाइव टीवी

पीलीभीत में पकड़े गए तेंदुए को हुआ सेप्टिक, इलाज के लिए लखनऊ भेजा गया

Arj Dev Singh | ETV UP/Uttarakhand
Updated: June 9, 2017, 3:20 PM IST
पीलीभीत में पकड़े गए तेंदुए को हुआ सेप्टिक, इलाज के लिए लखनऊ भेजा गया
पीलीभीत टाईगर रिजर्व में पकड़ा गया तेंदुआ. Image: ETV Network

पीलीभीत टाईगर रिजर्व के हरिपुर रेंज में पकड़े गए तेंदुए की जांच में पता चला है कि उसकी चोट में सेप्टिक हो चुका है. वन विभाग ने अब तेंदुए को इलाज के लिए लखनऊ भेज दिया है.

  • Share this:
पीलीभीत टाईगर रिजर्व के हरिपुर रेंज में पकड़े गए तेंदुए की जांच में पता चला है कि उसकी चोट में सेप्टिक हो चुका है. वन विभाग ने अब तेंदुए को इलाज के लिए लखनऊ भेज दिया है.

पीलीभीत टाईगर रिजर्व के हरिपुर रेंज से बाहर निकलकर घर में तेंदुआ घुसने की सूचना के बाद वन विभाग के अधिकारियों में हड़कंप मच गया था. सूचना मिलने पर पीलीभीत टाईगर रिजर्व के अधिकारी और कर्मचारी मौके पर पहुंचे.

इसके बाद टीम में मौजूद डॉ.एसके राठौर ने ट्रेंकुलाइजर गन से डॉट मारी. डॉट मारने के बाद बेहोश तेंदुए को पकड़कर पिंजरे में डाला गया. इसके बाद जांच में तेंदुए की चोट को देखने से पता चला कि उसमें अब सेप्टिक हो चुका है. इसके बाद डॉ. राठौर ने उसका प्राथमिक उपचार किया. अब तेंदुए को इलाज के लिए लखनऊ के प्राणी उद्यान भेजा गया है. यहां उसका इलाज डॉ.उत्कर्ष शुक्ला करेंगे.

तेंदुए को ट्रेंकुलाजर करने वाले डॉ.एसके राठौर के अनुसार तेंदुआ घायल है, उसके बाएं पंजे में सैप्टिक है. इसमें कीड़े भी पड़ गए हैं, जिससे पस भी हो गया है. फिलहाल प्राथमिक उपचार में कीड़ों को तो हटा दिया गया है, साथ ही साथ काफी पस भी निकाला गया है. अब घायल तेंदुए को इलाज के लिए लखनऊ के प्राणी उद्यान भेजा गया है.

इससे पूर्व 27 जून 2015 को भी तेंदुआ थाना गजरौला क्षेत्र के टाईगर रिजर्व क्षेत्र में स्थित माला कालोनी में एक किसान के घर में घुस गया था और उनकी पत्नी त्रियोवाला पोद्दार पर हमला कर घायल कर दिया था. बाद में इस तेंदुए को पकड़कर लखनऊ के प्राणी उद्यान भेजा गया था, जहां उसकी मौत हो गई थी. उस तेंदुए के पंजे में भी चोट थी और उसमें सेप्टिक हो गया था.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पीलीभीत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 9, 2017, 3:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर