लाइव टीवी

पिता की जगह बेटे का जारी किया मृत्यु प्रमाण पत्र, अब खुद को जिंदा साबित करने जुटा

ARJDEV SINGH | News18India
Updated: October 28, 2017, 8:32 AM IST
पिता की जगह बेटे का जारी किया मृत्यु प्रमाण पत्र, अब खुद को जिंदा साबित करने जुटा
पीड़ित इतवारीलाल

पीलीभीत के विकास विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. विभाग ने एक जीवित व्यक्ति को ही मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया है. जिसके बाद से अब वह व्यक्ति खुद को जिंदा साबित करने केलिए सुबूत ढूंढ रहा है.

  • News18India
  • Last Updated: October 28, 2017, 8:32 AM IST
  • Share this:
पीलीभीत के विकास विभाग की बड़ी लापरवाही सामने आई है. विभाग ने एक जीवित व्यक्ति को ही मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया है. जिसके बाद से अब वह व्यक्ति खुद को जिंदा साबित करने केलिए सुबूत ढूंढ रहा है.

जनपद पीलीभीत के बिलसंडा विकास खंड क्षेत्र के घंगौरा गांव निवासी इतवारीलाल ने मुख्य विकास अधिकारी डॉ दिनेश कुमार सिंह से मिलकर मामले में न्याय की गुहार लगाई है.

दरअसल पीड़ित इतवारीलाल के जीवित होने के बावजूद उसका म्रत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिया गया. जबकि मौत उसकी नहीं बल्कि उसके पिता पूतुलाल की 6 अगस्त 2016 को हुई थी. इसकी सूचना उसने संबंधित ग्रामविकास अधिकारी केपी सिंह को दी. जब मृत्यु प्रमाण पत्र जारी किया तो वह पिता पुत्तुलाल का नही बल्कि पीड़ित इतवारीलाल का था.

अनपढ़ होने की वजह से उसको इसकी जानकारी तब हुई जब कृषि संबंधित लाभ लेने के लिए वह जिला मुख्यालय में प्रमाण पत्र को कागजात के साथ संलग्न किया.

बड़ी बात ये है कि जब इसकी सूचना उसने ग्रामविकाश अधिकारी से की उसने भी गलती सुधारने की जगह उसे भगा दिया. ऐसा नहीं है कि पूरे मामले की शिकायत किसी सक्षम अधिकारी से नही की गई. लेकिन समस्या यह है कि पीड़ित अपने ही जीवित होने का सुबूत नही दे पा रहा था.

फिलहाल इस पूरे मामले को संज्ञान लेकर मुख्य विकास अधिकारी ने संबंधित बिलसंडा ब्लॉक के बीडीओ को तत्काल प्रमाणपत्र में सुधार व मामले का निस्तारण करने के निर्देश दिए हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पीलीभीत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 28, 2017, 8:32 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...