पीलीभीत: नहीं मिली एम्बुलेंस, ठेले पर भाई की लाश लेकर पहुंचा शमशान घाट

मामला सामने आने के बाद सीएमओ ने जांच के आदेश दे दिए है.

News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2018, 2:44 PM IST
पीलीभीत: नहीं मिली एम्बुलेंस, ठेले पर भाई की लाश लेकर पहुंचा शमशान घाट
ठेले पर शव ले जाते हुए फोटो.
News18 Uttar Pradesh
Updated: May 22, 2018, 2:44 PM IST
पीलीभीत में मंगलवार को मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आयी. यहां एक युवक को चचेरे भाई का शव पोस्टमार्टम हाउस से ठेला पर खुद खींचते हुए ले जाना पड़ा. क्योकि एम्बुलेंस चालक ने मृतक के भाई से 500 रुपये की डिमांड कर दी. गरीब होने के कारण वहां पैसे नहीं दे पाया. जिसके चलते उसे शमशान घाट तक ठेले पर ही भाई की लाश लेकर जाना पड़ा. मामला सामने आने के बाद सीएमओ ने जांच के आदेश दे दिए है.

मामला सुनगढ़ी थाना क्षेत्र के नौगवां की है. यहां के निवासी सुशील कुमार (45) की दो दिन पहले संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. पुलिस ने शव पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया था, लेकिन डाॅक्टरों ने पोस्टमार्टम सोमवार को किया. शव लेने के लिए मृतक का चचेरा भाई रामेश्वर पोस्टमार्टम हाउस पर मौजूद था. पीड़ित ने बताया कि पैसे नहीं देने के कारण ही पोस्टमार्टम में देरी की गई. जब हो गया तो शव ले जाने के लिए कोई साधन नहीं था. वहां मौजूद एक वाहन चालक से कहा तो उसने नौगवां तक के पांच सौ रुपये मांगे.

पैसे थे नहीं ऐसे में पोस्टमार्टम करने वाले डाॅक्टर से मदद की गुहार लगाई लेकिन कोई फायदा नहीं हुआ. वह घंटों भटकता रहा कि शव ले जाने का कोई साधन मिल जाए लेकिन किसी ने उसकी मदद नहीं की. बाद में वह ठेला लेकर पोस्टमार्टम हाउस पहुंचा और शव को उस पर लादकर घर ले गया.

सीएमओ डा. ओपी सिंह ने बताया,कि मामले की जानकारी होने के बाद वो तत्काल पीएम हाउस पहुंचे और लापरवाही पाए जाने के बाद वहां पर मौजूद टीम की फटकार लगाते हुए दोबारा इस तरह के कार्य न होने की चेतावनी दी. सीएमओ ने बताया कि उस वक्त शासन द्वारा एक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में व्यस्त थे. फिलहाल, इस घटना में जांच के आदेश दे दिए है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर