पीलीभीत: भ्रष्ट अधिकारियों की मनमानी से तंग युवक ने कलेक्ट्रेट में किया आत्मदाह का प्रयास

पीड़ित रामपाल ने आरोप लगाया कि उसकी मांग पूरी नहीं की जा रही है. प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने के नाम पर उससे ग्रामप्रधान व सचिव ने उससे 20 हजार की रिश्वत मांगी. यही नहीं हजारो रुपए का बिजली बिल भेज दिया गया, राशन कार्ड में भी हेराफेरी की गई.

ARJDEV SINGH | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 27, 2018, 4:36 PM IST
पीलीभीत: भ्रष्ट अधिकारियों की मनमानी से तंग युवक ने कलेक्ट्रेट में किया आत्मदाह का प्रयास
पीलीभीत में आत्मदाह का प्रयास. Photo: News 18
ARJDEV SINGH | News18 Uttar Pradesh
Updated: November 27, 2018, 4:36 PM IST
पीलीभीत में भ्रष्टाचार से परेशान युवक ने कलेक्ट्रेट में सरेआम खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह करने का प्रयास किया. पूरा मामला कलेक्ट्रेट के विकास भवन के सामने का है. मौके पर मौजूद अधिवक्ताओं ने उसे किसी तरह बचा लिया. सूचना के बाद पुलिस ने मौके पर पहुंचकर उसे हिरासत में लिया. युवक ने आरोप लगाया कि ग्राम प्रधान और सचिव ने प्रधानमंत्री आवास के नाम पर 20 हजार रुपए रिश्वत मांगे. इसके अलावा दो और समस्याओं को लेकर वह डेढ़ साल पूर्व मुख्यमंत्री से शिकायत कर चुका है. लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं हुई है.

एक तरफ फरियादियो की समस्या को जड़ से ख़त्म करने के लिए योगी सरकार ने एक एप के जरिये शिकायत दर्ज करने की व्यवस्था बनाई है, मगर पीलीभीत के भ्रष्टतंत्र सुधरने का नाम नहीं ले रहा है. इसी के शिकार एक युवक ने कलेक्ट्रेट के विकास भवन के सामने ही खुद को समाप्त करने के लिए पूरी तयारी कर ली. हाथ में मिटटी का तेल लेकर उसने अपने ऊपर डाल लिया और आग लगाने ही जा रहा था कि मौजूद अधिवक्ताओ ने उसे बचा लिया.

नगर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची और उससे पूछताछ कर रही है. दरअसल पीड़ित रामपाल पुत्र पोथीराम निवासी थाना सुनगढ़ी के ग्राम गौहनिया का रहने वाला है. उसने आरोप लगाया कि उसकी मांग पूरी नहीं की जा रही है. प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ दिलाने के नाम पर उससे ग्रामप्रधान व सचिव ने उससे 20 हजार की रिश्वत मांगी.

यही नहीं बीपीएल कार्ड से अंत्योदय कार्ड नहीं बनाया गया, जिससे उसका परिवार भूखा मर रहा है. साथ ही बिजली का उपभोग नहीं किये जाने के बावजूद उसका 11,947 रूपये का बिल आ गया है. इस सब समस्याओ को लेकर पीड़ित ने बताया कि उसने मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत संख्या 15151170191669 की. लेकिन डेढ़ साल बाद भी आरोपियों पर कोई कार्रवाई नहीं की गई है.

ये भी पढ़ें: 

यूपी नए जातीय समीकरण की ओर, OBC व SC/ST आरक्षण को बांटने की तैयारी!

शामली Live Murder: वीडियो जारी कर एसपी बोले- पुलिस के सामने नहीं हुई हत्या
Loading...

वाराणसी धर्म संसद में सबसे कम उम्र की साध्वी, Google की नौकरी छोड़ अपनाया है वैराग

जानिए यूपी में PCS परीक्षा से लेकर UPTET तक कैसे 'सवालों' के फेर में फंसी है योगी सरकार

अमेठी: राहुल गांधी ने मलिक मोहम्मद जायसी के नाम जारी किए 28 लाख रुपए

मेरठ: 12 घंटे में दूसरा पुलिस एनकाउंटर, 1 बदमाश ढेर, 4 गौवंश बरामद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पीलीभीत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 27, 2018, 4:36 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...