Home /News /uttar-pradesh /

UP में अफसरशाही से नाराज हुए BJP विधायक, अपनी ही सरकार के खिलाफ बैठे धरने पर

UP में अफसरशाही से नाराज हुए BJP विधायक, अपनी ही सरकार के खिलाफ बैठे धरने पर

Pilibhit: अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे बीजेपी विधायक रामशरण वर्मा

Pilibhit: अपनी ही सरकार के खिलाफ धरने पर बैठे बीजेपी विधायक रामशरण वर्मा

UP Assembly Elections: विधायक रामशरण वर्मा की 9 सूत्री मांगे हैं, जिसको लेकर वह धरने पर बैठ गए. इसमें सबसे प्रमुख मांग आवारा पशुओं से किसानों को होने वाली क्षति से राहत देने की है. उन्होंने गांव-गांव गौशाला खुलवाने, आवारा पशुओं से किसानों को होने वाली क्षति का मुआवजा, गौशालाओं की क्षमता बढ़ाने, गौशालाओं में पशुओं के लिए चारे दाने और पानी की समुचित व्यवस्था, गौशाला भवनों में के निर्माण में कथित घोटाला, सरकारी जमीन पर वर्षों से काबिज रहने वाले लोगों को कब्जा मुक्त कराना, चीनी मिलों से बकाया मूल्य दिलवाना शामिल है.

अधिक पढ़ें ...

पीलीभीत. यूपी के पीलीभीत जिले में बीसलपुर से बीजेपी विधायक रामशरण वर्मा (MLA Ramsharan Verma) अपनी कार्यशैली से हमेशा चर्चा में बने रहते हैं. अब विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) नजदीक आते ही फिर चर्चा में हैं. वे अब अपने ही सरकार और अधिकारियों पर यह आरोप लगाते हुए धरने पर बैठ गए हैं कि उनकी कहीं पर नहीं सुनी जा रही है. रामशरण वर्मा की 9 सूत्री मांगे हैं. इसमें सबसे पहली मांग आवारा पशुओं से किसानों को होने वाली क्षति से राहत देने की है. उन्होंने गांव-गांव गौशाला खुलवाने, आवारा पशुओं से किसानों को होने वाली क्षति का मुआवजा, गौशालाओं की क्षमता बढ़ाने, गौशालाओं में पशुओं के लिए चारे दाने और पानी की समुचित व्यवस्था, गौशाला भवनों में के निर्माण में कथित घोटाला, सरकारी जमीन पर वर्षों से काबिज लोगों पर कार्रवाई , चीनी मिलों से बकाया दिलवाना शामिल है.

नगर व ग्रामीण क्षेत्रों से आए बीजेपी के सैकड़ों समर्थक विधायक रामशरण वर्मा के साथ रामलीला मैदान पहुंचे और अपनी समस्या उठाते हुए बेमियादी धरने पर बैठ गए. धरने पर बैठे विधायक ने बताया कि जब तक मांगें पूरी नहीं होती, तब तक धरना जारी रहेगा. विधायक ने अपने समर्थकों को संबोधित करते हुए कहा कि पिछले काफी समय से प्रशासनिक अधिकारी से समस्याओं के समाधान की मांग कर रहे थे लेकिन अधिकारी उनकी एक नहीं सुन रहे थे.

विपक्ष ने लगाया ये आरोप

लगता यह है कि अधिकारियों पर विधायक रामशरण वर्मा की कोई लगाम नहीं है विधायक को अपनी बात मनवाने के लिए धरने पर बैठना पड़ा. वहीं विपक्षियों का यह मानना है कि विधायक आगामी चुनाव को लेकर फिर टिकट की जुगाड़ में हैं और वह मौजूदा सरकार के ऊपर दबाव बनाना चाहते हैं कि उनको या उनके परिवार को ही बीजेपी से चुनाव लड़ने के लिए टिकट दिया जाए.

Tags: Pilibhit news

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर