लाइव टीवी

जैविक खेती में झंडे गाड़ रहे पीलीभीत के इस किसान को मिला सम्मान

News18India
Updated: March 15, 2018, 6:47 PM IST
जैविक खेती में झंडे गाड़ रहे पीलीभीत के इस किसान को मिला सम्मान
कृषि मंत्री से पुरस्कार लेते किसान मंजीत सिंह संधू

भारतीय कृषि एवं खाद्य परिषद की ओर से उत्तर प्रदेश के प्रगतिशील किसानों को सम्मानित किया गया है. ये सम्मान उन किसानों की दिया गया है, जो उन्नतशील खेती को मॉडल बनाने का कार्य कर रहे हैं.

  • News18India
  • Last Updated: March 15, 2018, 6:47 PM IST
  • Share this:
पीलीभीत जनपद को कृषि प्रधान जिला माना जाता है. यहां किसानों ने आधुनिक खेती को धरातल पर उतारकर अलग-अलग तरीके अपनाकर अनाज पैदा की जा रही है. इसी को देखते हुए उत्तरप्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही ने यहां के एक किसान मंजीत सिंह संधू को प्रगतिशील किसान अवार्ड वर्ष 2018 व प्रमाणपत्र से सम्मानित किया है. मंजीत सिंह संधू अमरिया थाना क्षेत्र के बेलपोखरा गांव के रहने वाले हैं. संधू को सम्मान मिलने से जनपद के किसानों में उत्साह का माहौल बना हुआ है.

दरअसल भारतीय कृषि एवं खाद्य परिषद की ओर से उत्तर प्रदेश के प्रगतिशील किसानों को सम्मानित किया गया है. ये सम्मान उन किसानों की दिया गया है, जो उन्नतशील खेती को मॉडल बनाने का कार्य कर रहे हैं. लखनऊ में भारतीय गन्ना अनुसन्धान संस्थान द्वारा प्रगतिशील किसान सम्मेलन और पुरस्कार समारोह का आयोजन किया गया. इस मंच से लगभग 400 प्रगतिशील किसानो के आदर्श बनने का मौका मिल सकेगा.

इस कार्यक्रम में मौजूद प्रदेश के कृषि मंत्री सूर्य प्रताप शाही और दुग्ध विकास मंत्री लक्ष्मी नारायण चौधरी ने इन किसानो को सम्बोधित किया. उन्होंने कहा कि कृषि विकास और किसान कल्याण में आपकी प्रमुख भूमिका व आधुनिक खेती करने और पर्यावरण को सुरक्षित रखने की श्रेणी में रहने वाले किसानों को पुरस्कृत करने के लिए चुना गया है. ऐसा नही की इस सम्मान कार्यक्रम में किसानों को ही खुशी हुई हो, खुद कृषि मंत्री भी सम्मान देते हुए खुश दिखाई पड़े.

जनपद के अमरिया थाना इलाके के बेला पोखरा निवासी मंजीत सिंह एक प्रगतिशील किसान हैं. वैज्ञानिक सुझाव के बाद आधुनिक खेती के लिए मंजीत सिंह को कई बार सम्मानित किया गया. इन्होंने कई एकड़ भूमि जैविक खेती के लिए आरक्षित कर रखा है. अच्छी उपज के लिए मंजीत सिंह ने देश-विदेश में हो रहे सेमिनारों में भाग लिया. भारत लौटने के बाद मंजीत सिंह खुद अपनी खेती में तकनीकी का प्रयोग करते हैं, जोकि सफलता का एक बड़ा कारण है. मंजीत सिंह खुद को आधुनिक बनाने के साथ ही अन्य किसानों को बिना रसायन जैविक खेती के लिए जागरूक करते हैं. जैविक खाद के प्रयोग से अच्छी खेती और अधिक उपज कैसे हो, इसकी जानकारी वो खुद अन्य फार्मरों को देते रहते हैं.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए पीलीभीत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 15, 2018, 6:47 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...