पीलीभीत: 11 बाराती और 11 रुपए नेग लेकर दूल्हा बिहा लाया अपनी दुल्हनिया

पीलीभीत में मौलाना ने की अनोखी शादी

पीलीभीत में मौलाना ने की अनोखी शादी

Pilibhit News: मुफ्ती साजिद हसनी की शादी 3 माह पहले आजमगढ़ जिले मे तय हुई थी. पिछले 8 जनवरी को उनकी बरात आजमगढ़ गई, जहां पर इन्होंने दान दहेज को मना कर दिया. नेग के रूप में सिर्फ 11 रुपए लेकर मुस्लिम समाज में एक नया अध्याय जोड़ने की कोशिश की.

  • Share this:
पीलीभीत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के पीलीभीत (Pilibhit) जिले में मुस्लिम धर्मगुरु व स्कॉलर मुफ्ती साजिद हसनी ने मुसलमानों के लिए एक नई पहल की शुरुआत करते हुए एक नई तहरीर लिख डाली. उन्होंने अपनी शादी के दौरान जहां दान दहेज छोड़कर सिर्फ 11 नेग के लिए वहीं  11 लोगों के साथ अपनी शादी कर मुस्लिम समाज में एक नया इतिहास रचने की कोशिश की. अब यह शादी जिले  विषय बानी हुई है.

मुफ्ती साजिद हसनी की शादी 3 माह पहले आजमगढ़ जिले मे तय हुई थी. पिछले 8 जनवरी को उनकी बरात आजमगढ़ गई, जहां पर इन्होंने दान दहेज को मना कर दिया. नेग के रूप में सिर्फ 11 रुपए लेकर मुस्लिम समाज में एक नया अध्याय जोड़ने की कोशिश की. मुफ्ती साजिद हसनी का खानदान एक धार्मिक खानदान है. परिवार में पांच भाई और तीन बहन है. हसनी चौथे नंबर के हैं. इससे पहले के इनके तीनों भाइयों की शादी भी इसी तरह चुपचाप तरीके से हुई, जहां 11 लोगों ने ही शिरकत किया और 11 रुपए का नेग चढ़ाया गया था.

क्या कहना है मौलाना का?

मुफ्ती साजिद हसनी का कहना है कि वह मुस्लिम समाज में यह संदेश देना चाहते हैं कि समाजिक बुराइयों से दूर हट कर जैसे भारी भरकम शादियां, खूब दान दहेज, सजावट आदि से हटकर एक समान रूप से शादी करनी चाहिए। जिसका वह एक छोटा सा उदाहरण पेश कर हैं. उन्होंने कहा कि हिंदुस्तान में रहने वाले मुस्लिम समाज के लोग भी अब खूब दान दहेज के साथ लाखों करोड़ों रुपया खर्च कर अपनी बहन बेटियों की शादियां कर रहे हैं. वहीं इस समाज की गरीब बेटियां घर पर बैठी रह जाती हैं. इस बुराई को दूर करने के लिए मुफ्ती साजिद हसनी ने समाज में एक नया संदेश देने की कोशिश की है जो काफी पसंद किया जा रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज