Covid-19: कोरोना से बचाव के लिए पीलीभीत पुलिस सिखा रही 'ABCD', दी गई है ये सलाह
Pilibhit News in Hindi

Covid-19: कोरोना से बचाव के लिए पीलीभीत पुलिस सिखा रही 'ABCD', दी गई है ये सलाह
जिले के एसपी एसपी अभिषेक दीक्षित ने यह पहल की है.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की पीलीभीत (Pilibhit) पुलिस ने कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए (Protection From Covid-19) लोगों को जागरूक करने का एक नया तरीका खोज निकाला है.

  • Share this:
पीलीभीत. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की पीलीभीत (Pilibhit) पुलिस ने कोरोना के संक्रमण से बचने के लिए (Protection From Covid-19) लोगों को जागरूक करने का एक नया तरीका खोज निकाला है. शहर भर में पुलिस की तरफ से बड़ी बड़ी होर्डिंग लगवाए गए हैं. जिसमें जिले के एसपी ने जनता को एबीसीडी के माध्यम से इस खतरनाक वायरस से बचाव का रास्ता बताया है. एसपी अभिषेक दीक्षित के प्रयास से इस पहल की शुरुआत हुई है. पुलिस का प्रयास है कि ए, बी, सी और डी आम लोगों के दिमाग में घर कर जाए. जिसका उद्देश्य लोगों को कोरोनावायरस के संक्रमण से दूर रखना है. दरअसल, पीलीभीत के एसपी ने ए, बी, सी और डी के मायने ही बदल दिए हैं. आइए जानते हैं कि पीलीभीत जिले में लोगों को किस तरह अंग्रेजी के इन अल्फाबेट की क्लास कराई जा रही है.

ए, ए का मतलब....
ए का मतलब Avoid Gathering यानी भीड़ से बचें. बी का मतलब Be Alert यानी जागरूक रहें. जबकि सी का मतलब Conquer यानी विजय हासिल करें. इसके अलावा डी का मतलब यानी Distance of 6 feet यानी 6 फीट की दूरी बनाए रखने की सलाह दी गई है. इसके अलावा इ का मतलब एक्सरसाइज डेली यानी रोज कसरत करें. एफ का मतलब फेक न्यूज अलर्ट (Fake News Alert) यानी झूठी खबरों से बचें.

अपनाएं नमस्ते की संस्कृति



जी का मतलब Greet With Namaste यानी नमस्ते की संस्कृति अपनाएं. एच का मतलब हैंड वास यानी समय-समय पर हाथ धोएं. आई का मतलब Increase Immunity यानी रोग से लड़ने के लिए अपनी प्रतिरक्षा क्षमता को बढ़ाएं. जबकि जे का मतलब ज्वाएन एक्टिविटिज एट होम यानी घर पर गतिविधियों में शामिल हों. के का मतलब किप बिजी यानी व्यस्त रहें. एल का मतलब लर्न न्यू थिंग्स यानी नई चीज़ें सीखें. इसके अलावा म का मतलब मास्क महत्वपूर्ण हैं.



'नो टू गोईंग आउट'
जिला पुलिस ने लोगों को बाहर जाने से रोकने के लिए एन शब्द की पााठशाला में नो टू गोईंग आउट यानी बाहर जाने से बचने की सलाह दी है. इसके अलावा लोगों से किसी से भी संपर्क करने के लिए ओ यानी ऑनलाइन संपर्क स्थापित करने को कहा है. जिसके लिए मोबाइल या इंटरनेट का उपयोग किया जा सकता है.

पैशन को करे प्रैक्टिस, समय का सदुपयोग
लॉकडाउन के दौरान सबसे ज्य़ादा समस्या लोगों के खाली रहने की हो रही है. इसके लिए पीलीभीत पुलिस ने अपने पी यानी पैशन को प्रैक्टिस करने की सलाह दी है. क्यू यानी क्वारंटाइन मतलब संगरोध रहने की सलाह. आर यानी रिलैक्स मतलब आराम करें. एस यानी सबकुछ सैनिटाइज करें. इसके अलावा टी का टेक केयर मतबल ध्यान रखने और यू का मतलब य़ूटिलाइज टाइम यानी समय का सदूपयोग करने की सलाह भी दी गई है.

मास्क पहनने की कुछ इस तरह की गई है सलाह
जिला पुलिस ने वी वॉलंटियर यानी अपने घर पर स्वयंसेवक बनने और डब्ल्यू यानी वेयर ए मास्क यानी मास्क पहनने की सलाह दी है. साथ ही एक्स का मतलब यहां एक्सट्रा प्रीकॉशन यानी इस महामारी से बचाव के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतने को कहा है. इसके अलावा आम जनों को वाई यानी योगा इज गूड यानी योग अच्छा है. जेड यानी जीरो फेस टचिंग यानी चेहरा छूने से बचने की सलाह दी गई है.

जानिए क्या कहना है पीलीभीत के एसपी का
एसपी अभिषेक दीक्षित का कहना है कि पीलीभीत पुलिस कोरोना से बचाव के लिए नित्य नये नये प्रयोग कर लोगों को संदेश दे रही है. एबीसीडी लोगों को आकर्षित करती है, इसलिए इसके माध्यम से कोरोना से बचाव के बारे मे बताया गया है.

(रिपोर्ट: सैयद क़याम रज़ा)

 

ये भी पढ़ें:

4 साल की बच्‍ची का दर्द सुन बेचैन हुए DM, मदद के लिए खुद पहुंच गए मासूम के घर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading