पीलीभीत: प्रमाणपत्र पर मुहर लगवाने के नाम पर ली घूस, एसपी ने किया लाइनहाजिर

वरिष्ठ लिपिक मुंशी खिलेंद्र कुमार पीलीभीत के बीसलपुर कोतवाली में ही तैनात है. फरियादी किसी प्रमाणपत्र को प्रमाणित कराने के लिए कोतवाली पहुंचा था. यहां उससे काम के बदले पैसे वसूले गए.

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 25, 2018, 4:18 PM IST
News18 Uttar Pradesh
Updated: April 25, 2018, 4:18 PM IST
पीलीभीत पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने पीलीभीत के 15 थानों की पुलिस को भ्रष्टाचार मुक्त बनाने के कड़े निर्देश दिए थे, मगर उनके आदेश को ताक पर रखने वाले पुलिसकर्मियों की आज पोल खुल गई है. पीलीभीत जिले के बीसलपुर में वरिष्ठ लिपिक मुंशी द्वारा रिश्वत लेने का वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में किसी छात्र से प्रमाणपत्र पर मुहर लगवाने के नाम पर मुंशी खुलेआम पैसे लेते दिख रहे हैं. तस्वीरों में साफ तौर पर रिश्वतखोरी देखी जा सकती है. इस मामले में पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने आरोपी मुंशी को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है.

बता दें कि वरिष्ठ लिपिक मुंशी खिलेंद्र कुमार पीलीभीत के बीसलपुर कोतवाली में ही तैनात है. फरियादी किसी प्रमाणपत्र को प्रमाणित कराने के लिए कोतवाली पहुंचा था. यहां उससे काम के बदले पैसे वसूले गए. फिलहाल रिश्वतखोरी का ये वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हो चुका है.

इस मामले में जानकारी लेने पर क्षेत्राधिकारी बीसलपुर ने कैमरे पर कुछ भी बोलने से मना कर दिया है. मामले में पुलिस अधीक्षक कलानिधि नैथानी ने आरोपी खिलेंद्र कुमार को तत्काल प्रभाव से लाइन हाजिर कर दिया है. वहीं इस मामले की जांच अपर पुलिस अधीक्षक रोहित मिश्रा खुद करेंगे. खिलेंद्र कुमार की जगह उप निरीक्षक सुनील कुमार को पुलिस लाइन से बीसलपुर थाने में तैनाती दी गई है.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर