UP Panchayat Chunav: प्रधानी का चुनाव बना खानदानी जंग का अखाड़ा, पूर्व कैबिनेट मंत्री के सगे भाई आमने-सामने

यूपी के पूर्व मंत्री हाजी रियाज अहमद के भाइयों की वजह से पीलीभीत की एक ग्राम पंचायत चर्चा में है.

यूपी के पूर्व मंत्री हाजी रियाज अहमद के भाइयों की वजह से पीलीभीत की एक ग्राम पंचायत चर्चा में है.

UP Panchayat Elections: समाजवादी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे हाजी रियाज अहमद (Haji Riyaz Ahmad) के दो सगे भाई प्रधान पद के लिए आमने-सामने हैं. हालांकि इस सीट पर पूर्व मंत्री के खानदान का ही कब्‍जा रहता हैं.

  • Share this:
Syad Qayam Raza

पीलीभीत. उत्‍तर प्रदेश में पंचायत चुनाव (UP Panchayat Election) के दो चरण का ममदान हो चुका है और अब तीसरे चरण की तैयारियों जोरों पर हैं. इस बीच पीलीभीत से एक अजीब मामला सामने आया है, जहां समाजवादी सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे हाजी रियाज अहमद (Haji Riyaz Ahmad) के दो सगे भाई एक ही सीट पर अपनी अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. दरअसल, दोनों भाई एक ही सीट पर प्रधान पद के लिए दम दिखा रहे हैं.

पीलीभीत जिले के मरौरी ब्लॉक की ग्राम पंचायत गौहर पर सपा के पूर्व मंत्री हाजी रियाज अहमद के खानदान का पांच दशक से कब्जा जमा बना हुआ है. बता दें कि यहां पूर्व मंत्री के पिता, भाई या फिर खानदान के किसी ने किसी व्‍यक्ति का प्रधान पद पर कब्‍जा कायम रहा है. इसी वजह से इसे पूर्व मंत्री की खानदानी सीट के तौर पर पहचान बनी हुई है.

इस बार जफर और जहांगीर आमने-सामने
इस बार भी प्रधान पद पर पूर्व मंत्री के दो भाई जफर और जहांगीर आमने-सामने हैं, क्योंकि दोनों एक ही परिवार के हैं तो उसके समर्थक भी एक हैं. इस वजह से यह दोनों एक दूसरे के सामने भी आ जाते हैं और नतीजा थाने तक पहुंच जाता है. इससे पहले भी पूर्व मंत्री हाजी रियाज अहमद के पिता और उनके चाचा भी सीट पर आमने-सामने रहकर चुनाव लड़ चुके हैं. जबकि प्रधानी की इस सीट पर गांव के लोगों की नजर के अलावा राजनीतिक स्तर पर भी चर्चा रहती क्योंकि यह सीट पूर्व कैबिनेट मंत्री हाजी रियाज अहमद के नाम से जुड़ी है. यही नहीं, मंत्री की वजह से यह वीआईपी कोटे में भी चली आती है.

UP Panchayat Elections, Pilibhit News, Samajwadi Party, Haji Riyaz Ahmad, Village Head Elections
इस बार प्रधान पद के लिए जफर और जहांगीर आमने-सामने हैं.


हाजी रियाज अहमद की हर चाल बेकार



सपा सरकार में मंत्री रहे हाजी रियाज अहमद जिले से लेकर प्रदेश तक की राजनीति करते हैं और उनका नाम प्रदेश स्तर के नेताओं में आता है. हालांकि इस बार वह पंचायत चुनाव में अपने ही परिवार के लोगों को इकट्ठा नहीं कर पा रहे हैं, यह बात भी क्षेत्र में चर्चा की वजह बनी हुई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज