पीलीभीत: टाइगर रिजर्व से 2 ट्रैप कैमरे हुए चोरी, मुकदमा दर्ज

हरिपुर रेंज के 48 पॉइंट में लगभग 96 कैमरे लगाए गए थे. विधिवत खींचे गए वन्यजीवों का डाटा अब गायब हो चुका है. डाटा गायब होने की वजह से बाघ व अन्य वन्यजीवों की गणना में काफी परेशानी आ सकती है.

News18India
Updated: May 16, 2018, 6:10 PM IST
पीलीभीत: टाइगर रिजर्व से 2 ट्रैप कैमरे हुए चोरी, मुकदमा दर्ज
पूरनपुर कोतवाली
News18India
Updated: May 16, 2018, 6:10 PM IST
पीलीभीत टाइगर रिजर्व में बाघों की संख्या में बढ़ोतरी हो रही है, जिसके बाद एनटीसीए के गाइडलाइन के अनुसार ट्रैप कैमरे लगाए गए. पता चला है कि इनमें से 2 कैमरे चोरी हो चुके हैं. सूचना के बाद वन विभाग में हड़कंप मच गया है, अधिकारियों द्वारा सभी ट्रैप कैमरो को चेक कराया जा रहा है. विश्व प्रकृति निधि की तरफ से बाघों की गणना में लगे दोनों कैमरे चोरी होने पर टाइगर रिजर्व के हरिपुर रेंज के बीट प्रभारी नंदराम की तहरीर पर पूरनपुर कोतवाली पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.पूरनपुर कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक उदयवीर सिंह चौहान ने बताया कि वन विभाग द्वारा तहरीर पर ट्रैप कैमरे चोरी की रिपोर्ट दर्ज कर ली गई है.

उधर पीलीभीत टाइगर रिजर्व के हरिपुर रेंजर आरके शर्मा ने बताया कि कैमरों की लगातार निगरानी की जाती है. मगर इस बीच सुबह के वक्त चैकिंग में 2 कैमरा नहीं मिले. हालांकि वन विभाग की टीम ने जंगल के आसपास कैमरा ढूढ़ने का काफी प्रयास किया, मगर कोई सुराग नही लगा. पूरनपुर कोतवाली में तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है.

बता दें कि हरिपुर रेंज के 48 पॉइंट में लगभग 96 कैमरे लगाए गए थे. विधिवत खींचे गए वन्यजीवों का डाटा अब गायब हो चुका है. डाटा गायब होने की वजह से बाघ व अन्य वन्यजीवों की गणना में काफी परेशानी आ सकती है. अब दोबारा कैमरे लगकर वनजीवों की गणना की जाएगी. 6 माह पूर्व भी सुनगढ़ी थाना इलाके के बेहरी गांव में भी ट्रैप कैमरे चोरी होने के बाद रिपोर्ट दर्ज कराई गई, जिसमें कुछ दिन बाद ही अज्ञात चोर द्वारा कैमरा खेत मे फेंक दिया गया. जोकि बाद में विभाग द्वारा प्राप्त किया गया.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर