होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Pilibhit: स्वास्थ्य विभाग ने शुरू की 'दुआ से दवा तक' मुहिम', मानसिक रोगियों को मिलेगी मदद

Pilibhit: स्वास्थ्य विभाग ने शुरू की 'दुआ से दवा तक' मुहिम', मानसिक रोगियों को मिलेगी मदद

आधुनिकता के इस दौर में लोग बड़ी संख्या में तनावग्रस्त होते जा रहे हैं. इसको ध्यान में रखते हुए उत्तर प्रदेश स्वास्थ विभ ...अधिक पढ़ें

    सृजित अवस्थी

    पीलीभीत. मानसिक रोगों को लेकर अब लोग जागरूक होने लगे हैं. साथ ही उत्तर प्रदेश स्वास्थ्य विभाग भी लोगों के बीच मानसिक स्वास्थ्य को लेकर लगातार कार्यक्रम चला रहा है. स्वास्थ विभाग ने मानसिक रोगों से निजात दिलाने को नई मुहिम ‘दुआ से दवा तक’ शुरू की है. दरअसल आधुनिकता के इस दौर में लोग बड़ी संख्या में तनावग्रस्त होते जा रहे हैं. इसको ध्यान में रखते हुए स्वास्थ विभाग ने ‘दुआ से दवा तक’ मुहिम शुरू की है. इसके जरिये स्वास्थ्य विभाग में संचालित मन कक्ष (मानसिक स्वास्थ्य विभाग) की टीम धार्मिक स्थलों पर जाकर ऐसे लोगों की पहचान कर उनकी काउंसलिंग करती है, जो तनाव से ग्रस्त हैं.

    मन कक्ष (मानसिक स्वास्थ्य विभाग) में कार्यरत साइकोथैरेपिस्ट डॉ. पल्लवी सक्सेना ने इस मुहिम पर अधिक जानकारी देते हुए बताया कि इस कैंपेन के तहत धार्मिक स्थलों पर कैंप लगाए जाते हैं. कैंप में आए लोगों से बातचीत कर उनके मानसिक स्वास्थ्य की जानकारी ली जाती है. आवश्यकता पड़ने पर उन्हें जिला अस्पताल स्थित मन कक्ष में इलाज के लिए बुलाया जाता है.

    क्या है इस तरह की बीमारियों के लक्षण
    न्यूज़ 18 लोकल से बातचीत के दौरान डॉ. पल्लवी सक्सेना ने कहा कि अगर किसी व्यक्ति या उसके परिवार में किसी के व्यवहार में अचानक बदलाव आता है या फिर चिड़चिड़ापन, अकेलापन, रोने की इच्छा आदि लक्षण होते हैं तो इसका मतलब है कि उसको कुछ न कुछ मानसिक तनाव है. ऐसे में उन्हें तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र जा कर डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए. थेरेपी व कुछ दवाइयों के जरिए मानसिक बीमारियों को जड़ से खत्म किया जा सकता है.

    Tags: Depression, Mental health, Pilibhit news, Up news in hindi, Uttar Pradesh Health Department

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें