होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /पीलीभीत में बारिश का साइड इफेक्ट शुरू, जिला अस्पताल में बढ़ी मरीजों की संख्‍या

पीलीभीत में बारिश का साइड इफेक्ट शुरू, जिला अस्पताल में बढ़ी मरीजों की संख्‍या

Pilibhit News: पीलीभीत में बीते दिनों हुई लगातार बारिश के साइड इफेक्ट देखने को मिल रहे हैं. इस समय वायरल बीमारियों और स ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- सृजित अवस्थी

पीलीभीत. उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में बीते दिनों हुई लगातार बारिश के साइड इफेक्ट अब देखने को मिल रहे हैं. बारिश बंद होते ही जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों का आंकड़ा एकाएक बढ़ गया है. पीलीभीत जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों में अधिकतर मरीज वायरल बीमारियों और स्किन इन्फेक्शन के हैं.

इस समय पीलीभीत के जिला अस्पताल में एक दिन की ओपीडी आम दिनों में 300 से 400 लोगों तक रहती है, लेकिन इन दिनों मरीजों का आंकड़ा 1000 तक पहुंच रहा है. इन मरीजों में अधिकतर खांसी, बुखार आदि से पीड़ित हैं, तो वहीं 100 मरीज स्किन इन्फेक्शन के परामर्श के लिए आ रहे हैं.

जलभराव से होते हैं इंफेक्शन
पीलीभीत के जिला अस्पताल में तैनात त्वचा रोग विशेषज्ञ डॉ. एसके सिंह ने NEWS18 LOCAL से बातचीत के दौरान बताया कि बारिश के बाद होने वाले जलभराव के चलते लोगों में इंफेक्शन फैलता है. ऐसे में लोगों को ध्यान रखना चाहिए कि वह जलभराव के बीच ना जाएं और अगर जाने की परिस्थिति बनती भी है, तो तुरंत अपने पैरों को साफ करें.

बदलते मौसम के कारण बढ़ रहें मरीज
पीलीभीत के जिला अस्पताल में तैनात फिजीशियन डॉ. रमाकांत सागर ने बताया कि बदलते मौसम में वायरल बीमारियों का खतरा और भी बढ़ जाता है. जिला अस्पताल में आने वाले अधिकतर मरीजों में खांसी बुखार के लक्षण देखे जा रहे हैं. ऐसे मौसम में लोगों को ध्यान रखना चाहिए कि वे दूषित पानी पीने से बचें व बाहर के खाने से परहेज करें. अगर किसी को भी बीमारी के लक्षण दिखते हैं, तो तुरंत नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र में संपर्क करें.

जिला अस्पताल में इंतजाम नाकाफी
पीलीभीत के जिला अस्पताल में आने वाले मरीजों का आंकड़ा तो बढ़ रहा है, लेकिन मरीजों को देखने के लिए डॉक्टरों की कमी अभी भी बरकरार है. जिला अस्पताल में लंबे समय से डॉक्टरों की तैनाती को लेकर समस्या बनी हुई है.

Tags: Pilibhit news, UP government hospital, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें