होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Pilibhit के युवाओं में लगातार बढ़ रही है ये मानसिक समस्या, जानिए कैसे करें बचाव?

Pilibhit के युवाओं में लगातार बढ़ रही है ये मानसिक समस्या, जानिए कैसे करें बचाव?

Pilibhit News: अगर पीलीभीत या आसपास रहने वाले किसी युवा व अन्य व्यक्ति में किसी भी मानसिक समस्या या बीमारी के लक्षण है. ...अधिक पढ़ें

रिपोर्ट- सृजित अवस्थी

पीलीभीत:
इन दिनों लगातार बढ़ रहे प्रतिस्पर्धा के माहौल के चलते युवाओं में तनाव की समस्या अब आम हो रही है. अगर पीलीभीत के मनोचिकित्सा विभाग के आंकड़ों की बात की जाए तो बीते 3 महीनों में सबसे अधिक मामले युवाओं में देखे गए हैं. इनमें से सबसे अधिक संख्या उन युवाओं की है जो पढ़ाई कर रहे हैं. एक्सपर्ट का मानना है कि परिवार और शैक्षणिक संस्थानों की ओर से दिया जाने वाला अनावश्यक दबाव युवाओं के लिए घातक साबित हो रहा है.

पीलीभीत जिला अस्पताल स्थित मन कक्ष में तैनात साइकोथैरेपिस्ट डॉक्टर पल्लवी सक्सेना बताती हैं कि बीते 3 महीने में सबसे अधिक मामले 18 से 32 वर्षीय युवाओं में देखे गए हैं. यह युवा या तो अभी स्कूल कॉलेज में पढ़ रहे हैं या फिर किसी रोजगार के लिए परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं. आमतौर पर अच्छी परफॉर्मेंस व सफलता के अधिक दबाव के कारण इन युवाओं में एंजाइटी व डिप्रेशन जैसे लक्षण देखे जा रहे हैं. कई मामलों में तो यह डिप्रेशन काफी अधिक बढ़ जाता है.

ऐसे करें पहचान
डॉक्टर पल्लवी सक्सेना के मुताबिक जिस किसी युवा के व्यवहार में अचानक परिवर्तन आना शुरू हुआ है. अगर वह अपनी पढ़ाई में मन नहीं लगा पा रहे हैं या गुमसुम रहते हैं. तो ऐसे मामलों में उन्हें खुद व उनके अभिभावकों को इस ओर ध्यान देना चाहिए. उन्हें जल्द से जल्द अपने नजदीकी मनोचिकित्सा केंद्र पर संपर्क करना चाहिए.

पीलीभीत में यहां ले सकते हैं परामर्श
अगर पीलीभीत या आसपास रहने वाले किसी युवा व अन्य व्यक्ति में किसी भी मानसिक समस्या या बीमारी के लक्षण है. तो वह जिला अस्पताल स्थित मन कक्ष में डॉक्टर्स से संपर्क कर सकते हैं.

इसके साथ ही वह सरकार द्वारा जारी किए गए टोल फ्री नंबर 14416 व 1800-891-4416 पर सम्पर्क कर सकते हैं.

Tags: Depression, Health Department, Pilibhit news, School news, Uttar pradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें