Home /News /uttar-pradesh /

कहां से आया 23 किलो सोना, तस्करी की गई है? Piyush Jain पर DRI ने 2 घंटे तक की सवालों की बौछार

कहां से आया 23 किलो सोना, तस्करी की गई है? Piyush Jain पर DRI ने 2 घंटे तक की सवालों की बौछार

पीयूष जैन से करीब 2 घंटे तक हुई पूछताछ.

पीयूष जैन से करीब 2 घंटे तक हुई पूछताछ.

Piyush Jain News: डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) की टीम ने सोमवार को इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain News) से जेल में पूछताछ की है. करीब दो घंटे तक चली पूछताछ में डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) की टीम ने पीयूष जैन के घऱ से बरामद 23 किलो सोना (Piyush Jain Godl Case) के बारे में पूछताछ की. टीम लगातार सवाल दागती रही और यह जानने की कोशिश करती रही कि आखिर ये सोने कहां से आए, क्या सोने की तस्करी की गई थी या अगर यह सही तरीके से हैं तो फिर इसके दस्तावेज किधर हैं.

अधिक पढ़ें ...

कानपुर: कानपुर के ‘कुबेर कांड’ में जेल में बंद इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain) की मुश्किलें जारी हैं. डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (डीआरआई) की टीम ने सोमवार को इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain News) से जेल में पूछताछ की है. करीब दो घंटे तक चली पूछताछ में डायरेक्टरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) की टीम ने पीयूष जैन के घऱ से बरामद 23 किलो सोना (Piyush Jain Godl Case) के बारे में पूछताछ की. टीम लगातार सवाल दागती रही और यह जानने की कोशिश करती रही कि आखिर ये सोने कहां से आए, क्या सोने की तस्करी की गई थी या अगर यह सही तरीके से हैं तो फिर इसके दस्तावेज किधर हैं.

दरअसल, पीयूष जैन से पूछताछ के लिए डीआरआई ने एसीसीएमएम 2 कोर्ट से से मंजूरी मांगी थी. कोर्ट से अनुमति मिलने के बाद डीआरआई की टीम ने शाम में करीब 2 घंटे तक पूछताछ की. हालांकि, कोर्ट ने चार घंटे तक पूछताछ की अनुमति दी थी. सूत्रों की मानें तो जेल के बैरक नंबर 15 में पूछताछ के दौरान पीयूष जैन गोल-मटोल जवाब देता रहा. डीआरआई की टीम ने दो घंटे तक लगातार सवाल दागे मगर बताया जा रहा है कि अब तक टीम को पीयूष जैन की ओर से संतोषजनक जवाब नहीं मिले हैं.

गौरतलब है कि बीते दिनों डीजीजीआई की छापेमारी में सोना बरामद होने के मामले में जेल में बंद पीयूष जैन के खिलाफ अब डीआरआई यानी राजस्व खुफिया महानिदेशालय ने कस्टम एक्ट में पीयूष जैन के खिलाफ मामला दर्ज किया है. डीआरआई गोल्ड स्मगलिंग के एंगल से इसकी जांच कर रही है. दरअसल, कानपुर के इत्र कारोबारी पीयूष जैन के घर से बरामद सोने की ईंटों को लेकर एजेंसी को शुरू से शक है कि इनकी तस्करी की गई है. एजेंसी को शक है कि पीयूष जैन के घर से जो 23 किलो सोने की ईंट या बिस्किट बरामद हुए हैं, वे दुबई से आए हैं. इसलिए पीयूष जैन की अकूत संपत्ति के तार गोल्ड स्मगलिंग से भी जुड़े होने का शक पैदा हो गया.

एजेंसी को शक है कि दुबई में गोल्ड पर टैक्स नहीं है, इसलिए वहां से गोल्ड की तस्करी सबसे ज्यादा होती है और हो सकता है कि पीयूष जैन ने यही रास्ता अपनाया हो. अब डीआरआई की टीम अब पता लगाएगी कि ये सोना कहां से आया है और क्या ये सोना तस्करी कर लाया गया? क्या इसके पीछे कोई गोल्ड स्मगलिंग सिंडिकेट है, क्या इस सोने पर कस्टम ड्यूटी चुकाई गई? डीआरडी इस बात का भी पता लगाएगी कि आखिर पीयूष जैन ने ये सोना किससे खरीदा. द

दरअसल, कस्टम एक्ट का जब भी उल्लंघन होता है, डीआरडीआई उस मामले में अलग से मुकदमा दर्ज कर अपनी तफ्तीश शुरू करती है. बता दें कि बीते 6 दिनों से जारी रेड में पीयूष जैन के घर से करीब 197 करोड़ रुपये कैश बरामद हुए हैं, वहीं 23 किलो सोना मिला है. पीयूष जैन पर कर चोरी का आरोप है और अब उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर