Home /News /uttar-pradesh /

पॉक्सो कोर्ट का कमाल: बस 12 सुनवाई में हुई पूरी, बलात्कारी को सुनाई उम्रकैद की सजा

पॉक्सो कोर्ट का कमाल: बस 12 सुनवाई में हुई पूरी, बलात्कारी को सुनाई उम्रकैद की सजा

संपत्ति नाम होने के बाद पोते का व्यवहार बदल गया. (प्रतीकात्मक)

संपत्ति नाम होने के बाद पोते का व्यवहार बदल गया. (प्रतीकात्मक)

बरेली स्थित किला थाना में पीड़िता की मौसी ने 18 सितंबर को एफआईआर दर्ज करायी थी कि उनकी 14 वर्षीय किशोरी के साथ पास के ही रहने वाले दिनेश मिश्रा ने दुष्कर्म किया है. अपनी शिकायत में उन्होंने लिखा था, 'पीड़िता बीते आठ वर्ष से उनके साथ रह रही है. 26 अगस्त 2021 को रात नौ बजे वह बाजार जा रही थी, तभी रास्ते में आरोपी दिनेश चंद्र मिश्रा मिला और उसे बहाने से अपने घर ले गया. वहीं आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया.'

अधिक पढ़ें ...

    बरेली. उत्तर प्रदेश के बरेली (Bareilly News) स्थित विशेष पॉक्सो कोर्ट (POCSO Court) ने दलित किशोरी से दुष्कर्म के मामले में 12 तारीखों में सुनवाई पूरी करते हुए दोषी को सज़ा सुना दी. कोर्ट ने दुष्कर्म के दोषी पाए गए व्यक्ति को उम्रकैद की सज़ा और 1, 15, 500 रुपये का जुर्माना लगाया है.

    बरेली स्थित किला थाना में पीड़िता की मौसी ने 18 सितंबर को एफआईआर दर्ज करायी थी कि उनकी 14 वर्षीय किशोरी के साथ पास के ही रहने वाले दिनेश मिश्रा ने दुष्कर्म किया है. अपनी शिकायत में उन्होंने लिखा था, ‘पीड़िता बीते आठ वर्ष से उनके साथ रह रही है. 26 अगस्त 2021 को रात नौ बजे वह बाजार जा रही थी, तभी रास्ते में आरोपी दिनेश चंद्र मिश्रा मिला और उसे बहाने से अपने घर ले गया. वहीं आरोपी ने उसके साथ दुष्कर्म किया.’

    ये भी पढ़ें- Kanpur Triple Murder Case: पत्नी और बच्चों को मारने वाले डॉक्टर ने गंगा में कूदकर जान दे दी?

    पुलिस ने भी त्वरित कार्रवाई
    महिला की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी दिनेश चंद्र मिश्रा के खिलाफ पॉक्सो और एससी एसटी एक्ट में एफआईआर दर्ज कर ली और अगले दिन यानी 19 सितंबर को उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.

    ये भी पढ़ें- प्यार का अजब खेल! महिला ने पति और प्रेमी के साथ मिलकर की दूसरे प्रेमी की हत्या, फिर पति ने कर ली खुदकुशी

    इस मामले की जांच सीओ द्वितीय आशीष प्रताप सिंह ने की और 16 नवंबर को ही मामले में चार्जशीट लगा दी. मुकदमे की सुनवाई विशेष जज पॉक्सो एक्ट रामदयाल की कोर्ट में हुई. अभियोजन की ओर से अपर जिला शासकीय अधिवक्ता रीतराम राजपूत और विशेष लोक अभियोजक सुभव मिश्रा ने पैरवी की थी. दोनों पक्षों की दलील सुनकर विशेष कोर्ट में आरोपी को सश्रम आजीवन कैद की सजा सुनाई गई.

    डीजीसी क्राइम सुनीति कुमार पाठक के मुताबिक, 12 तारीखों में सुनवाई पूरी कर पीड़िता को न्याय देने का यह अब तक का पहला मामला है. इस प्रकरण में पीड़िता के साथ आरोपी ने 26 अगस्त 2021 को दुष्कर्म किया था. विवेचना के बाद पुलिस ने 16 को चार्जशीट लगाई. 18 नवंबर 2021 को विशेष कोर्ट में आरोपी के खिलाफ पॉक्सो और एससी/एसटी एक्ट में चार्जशीट दायर की गई. विशेष कोर्ट ने दस तारीखों में 14 गवाहों के बयान दर्ज कराए थे. एक तारीख पर अभियुक्त के बयान और एक तारीख पर केस की बहस हुई थी और इस तरह 12 तारीखों में पीड़िता को न्याय देते हुए पोक्सो कोर्ट ने आरोपी को उम्रकैद की सज़ा सुना दी.

    Tags: POCSO court punishment, Rape Case

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर