प्रतापगढ़ केस: छात्रा के सुसाइड मामले में सीएम योगी ने दिया अधिकारियों को आदेश, आरोपियों पर हो सख्‍त कार्रवाई

सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाई की निर्देश दिये हैं.
सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाई की निर्देश दिये हैं.

प्रतापगढ़ (Pratapgarh) में छात्रा द्वारा कुए में कूदकर सुसाइड (Suicide)करने के मामले में सीएम योगी (CM Yogi) अधिकारियों को सख्‍त कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं. जबकि मृतक छात्रा की मां ने 24 घंटे में दो बार अपना बयान बदलकर पुलिस को परेशानी में डाल दिया है.

  • Share this:
प्रतापगढ़. उत्‍तर प्रदेश के प्रतापगढ़ (Pratapgarh) में छात्रा द्वारा कुए में कूदकर सुसाइड (Suicide)करने के मामले में उसकी मां का बयान लगातार बदलने से पुलिस विभाग (Police Department) में हड़कंप मचा हुआ है. बुधवार को पोस्टमार्टम के दौरान छात्रा की मां मंजू देवी ने दबंगों पर रेप का आरोप लगाया है. जबकि कल यानी मंगलवार की देर शाम तक परिजनों द्वारा दबंगों पर सिर्फ छेड़खानी का ही आरोप लगाया जा रहा था. मृतक छात्रा की मां के द्वारा लगातार घटना को बदलने से पुलिस परेशान है और पूरी घटना पर परिजनों की भूमिका अब संदिग्ध नजर आने लगी है. मृतक छात्रा की मां ने 24 घंटे में अपना बयान दो बार मीडिया के सामने बदल दिया है. जबकि सीएम योगी (CM Yogi) ने इस मामले में सख्‍त कार्रवाई के आदेश दिए हैं.

क्या था छात्रा की मौत का मामला?
दरअसल प्रतापगढ़ के बाघराय थाना इलाके पुवासी गांव में मंगलवार दोपहर 1 बजे 11वीं की छात्रा ने घर के सामने कुए में कूद कर जान दे दी. परिजनों ने पुलिस को सूचना दिये बिना ही शव को कुए से निकाला. जबकि प्रधान की सूचना पर पुलिस ने मौके पर पहुचकर शव को कब्जे मे लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया, जिसके बाद छात्रा की मां ने गांव के तीन युवकों पर छेडखानी, मारपीट और धमकी देने का आरोप लगाया था. पीड़िता की मां की शिकायत के आधार पर पुलिस ने तीनों युवको पर छेडखानी और छात्रा को आत्महत्या के उसकाने और पॉस्को एक्ट में मुकदमा दर्ज करते हुए एक आरोप गुड्डू सिंह को गिरफ्तार कर लिया है. जबकि मंगलवार को मृतक छात्रा की मां का आरोप था कि बीती रात गुननू तिवारी ने उसके घर मे जबरन घुसकर 16 साल की बेटी के साथ छेडखानी की और वह परिवार के शोर मचाने पर आरोपी धमकी देते हुए भाग निकले. इसके बाद सुबह दबंगों ने फिर पीड़ित परिवार को धमकाया, जिसके बाद छेडखानी से आहात छात्रा ने कुए में कूद कर जान दे दी ,लेकिन इतना सब कुछ होने के बाद भी परिजनों ने पुलिस से मामले में कोई शिकायत नहीं की. हालांकि परिवार का कहना है कि कई महीनो से गुननू तिवारी ,डब्बू सिंह और गूडु द्वारा उनकी बेटी को परेशान किया जाता रहा और लोकलाज के डर से दबंगों की धमकी के बाद भी पुलिस में कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई थी.

बार बार बयान बदलने से परिवार पर गहराया शक!
मृतक छात्रा की मां ने12 घंटे बाद छेडखानी से आगे बढ़ते हुए दबंगों पर रेप करने का आरोप लगा है. जबकि मंगलवार को एसपी के सामने उसने रेप की बात नहीं कही थी. यही नहीं, छ्ह महीनो से दबंगों द्वारा बेटी को छेड़ा जाता रहा, लेकिन पीड़ित परिवार पुलिस से मामले की शिकायत नहीं की. मंगलवार को लड़की द्वारा आत्महत्या करने के बाद भी पुलिस को करीब 2 घंटे तक कोई सूचना नहीं दी गई. इसी वजह से मृतक छात्रा के परिवार पर कई सवाल उठ रहे हैं. हालांकि पुलिस मामले की जांच में जुटी हुई है.



सीएम योगी ने दिया ये आदेश
प्रतापगढ़ की छात्रा की मौत की खबर का संज्ञान लेते हुए सूबे के सीएम योगी आदित्यनाथ ने अफसरों को आरोपियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिये हैं, लेकिन परिवार द्वारा लगातार बयान बदलने से पुलिस मुसीबत में फंस गई है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज