होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /UP News: प्रतापगढ़ पुलिस ने 8 हिस्ट्रीशीटरों के कागजात जलाकर किए खाक, यह है बड़ी वजह

UP News: प्रतापगढ़ पुलिस ने 8 हिस्ट्रीशीटरों के कागजात जलाकर किए खाक, यह है बड़ी वजह

प्रतापगढ़ पुलिस ने 8 मृतक हिस्ट्रीशीटरों के कागजात जलाए.

प्रतापगढ़ पुलिस ने 8 मृतक हिस्ट्रीशीटरों के कागजात जलाए.

Pratapgarh News: पट्टी सीओ दिलीप सिंह ने बताया की आज 8 हिस्ट्रीशीटर अपराधियों के अभिलेख एसपी के आदेश पर जलाकर नष्ट किये ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

पट्टी कोतवाली पुलिस ने 8 हिस्ट्रीशीटरों के कागजात जलाए
मृत्यु प्रमाण पत्र मिलने के बाद कि यह कार्रवाई

प्रतापगढ़: उत्तर प्रदेश की प्रतापगढ़ पुलिस ने 8 हिस्ट्रीशीटर बदमाशों के पूरे खाका (कागजात) को जलाकर नष्ट कर दिए हैं. मामला पट्टी कोतवाली का है, जहां पट्टी सर्किल के आठ हिस्ट्रीशीटर अपराधियों के अभिलेख को सीओ और कोतवाल के सामने जलाकर नष्ट कर दिया गया. बताया गया कि एसपी के आदेश पर इन हिस्ट्रीशीटर बदमाशों के अखिलेख को जलाया गया क्योंकि अब इन अपराधियों की मौत हो चुकी है. इन हिस्ट्रीशीटरों की मौत के बाद इनके परिजनों ने थाने में मृत्यु प्रमाण-पत्र जमा किए. जिसके बाद प्रतापगढ़ पुलिस ने ये कार्यवाई की है.

इन हिस्ट्रीशीटरों की हुई मौत
रविवार को पट्टी कोतवाली में हिस्ट्रीशीटरों के अभिलेख को जलाते हुए देख फरियादियों की भीड़ जमा हो गई. आपको बता दें कि पट्टी सर्किल में हिस्ट्रीशीटर अपराधियो की संख्या 100 है. लेकिन इसमें से 8 हिस्ट्रीशीटर की मौत हो चुकी है. इस प्रकार अब इस सर्किल में 92 हिस्ट्रीशीटर बचे हैं. आज जिन 8 मृतक हिस्ट्रीशीटरों के अभिलेख जलाए गए हैं उनमें, रामकुमार निवासी पूरभीखा, झगड़ू निवासी कोहराव, रामचरण निवासी गोधू पट्टी, चिंतामणि, सीताराम, महेश सिंह, मनोज मिश्रा और मो खालिक है जिनकी मौत हो चुकी है. आज इनके हिस्ट्रीशीट से संबंधित थाने में रखे पेपर को जला दिया गया.

मृतक हिस्ट्रीशीटरों के परिजनों को मिलेगी राहत
पट्टी सीओ दिलीप सिंह ने बताया की आज 8 हिस्ट्रीशीटर अपराधियों के अभिलेख एसपी के आदेश पर जलाकर नष्ट किये गए हैं. इन सभी हिस्ट्रीशीटर की मौत हो चुकी है. परिजनों से मृत्यु प्रमाण-पत्र लेने के बाद ये कार्रवाई की गई है. सीओ ने बताया कि पट्टी इलाके में 100 हिस्ट्रीशीटर थे, जिसमें से 8 हिस्ट्रीशीटर की मौत हो गई है. उन्होंने कहा कि मृतक हिस्ट्रीशीटर के परिजनों को इस कार्रवाई से राहत मिलेगी, क्योंकि हर माह पुलिस हिस्ट्रीशीटर की सत्यापन करती है. ऐसे में पुलिस इनके घर पहुंच जाती है. लेकिन अब अभिलेख जलाए जाने के बाद से पुलिस इनके घर नहीं जाएगी.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi, Pratapgarh news, Pratapgarh police, Uttarpradesh news

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें