प्रतापगढ़ : पंचायत चुनाव के वोटर लिस्ट को लेकर बीएलओ को जूते से पीटा, मामला दर्ज

इस 23 फरवरी को पंचायत प्रतिनिधियों की सारी शक्ति छिन जाएगी. (सांकेतिक तस्वीर)

इस 23 फरवरी को पंचायत प्रतिनिधियों की सारी शक्ति छिन जाएगी. (सांकेतिक तस्वीर)

बीएलओ सुभाष वर्मा की शिकायत के बाद पुलिस ने रमेश वर्मा और चार अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 4, 2021, 10:25 PM IST
  • Share this:
प्रतापगढ़. प्रतापगढ़ के अंतु कोतवाली क्षेत्र के भवानीपुर में रविवार की शाम बीएलओ सुभाष विश्वकर्मा की कुछ लोगों ने पिटाई कर दी. उनपर लात-घूसों से हमला किया गया. आरोप है कि इनलोगों ने पंचायत चुनाव की वोटर लिस्ट और आपत्ति का फार्म भी फाड़ दिया. इसके बाद बीएलओ सुभाष विश्वकर्मा को धमकी देते हुए फरार हो गए. बीएलओ सुभाष वर्मा की शिकायत के बाद पुलिस ने रमेश वर्मा और चार अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है और आरोपियों की तलाश कर रही है.

बीएलओ ने नहीं दी थी रिसीविंग

दर्ज मामले के मुताबिक, प्रतापगढ़ में प्रधानी चुनाव को लेकर गहमागहमी शुरू हो चुकी है. भवानीपुर गांव में रविवार शाम को रमेश वर्मा अपने चार गुर्गों के साथ बीएलओ सुभाष विश्वकर्मा के पास पहुच गए. उन्होंने प्रथम चरण के पंचायत चुनाव के वोटर लिस्ट के 70 नामों पर आपत्ति सौंपी और बीएलओ से उसकी रिसीविंग की मांग करने लगे. इतनी बड़ी संख्या में आपत्ति दाखिल पर बीएलओ ने रिसीविंग देने से मना किया तो इसी बात पर खार खाए रमेश वर्मा ने बीएलओ सुभाष की पिटाई जूतों से की. फिर लात-घूसे बरसाए. इस वारदात के बाद जिले भर के बीएलओ में भारी आक्रोश है. लेकिन घटना के 20 घंटे बाद भी रमेश वर्मा की पुलिस गिरफ्तारी नही कर सकी है.

Youtube Video

वोटर लिस्ट में जोड़-तोड़ का खेल शुरू

प्रतापगढ़ में पंचायत चुनाव के प्रथम चरण की मतदाता फीडिंग का काम पूरा हो चुका है. 27 दिसम्बर को प्रथम मतदाता सूची का प्रकाशन हो चुका है. अब मतदाता सूची पर प्रशासन आपत्ति ले रहा है. पंचायत मतदाता सूची के आपत्ति का निस्तारण भी शुरू हो चुका है. जिसको लेकर गांवों के प्रधान, पूर्व प्रधान, भावी प्रत्याशी अपने-अपने वोटरों का नाम वोटर लिस्ट में शामिल कराने में जुटे हैं. इसके अलावा ये लोग मृतक, शादी-शुदा महिलाओं के नाम को कटवाने का प्रयास कर रहे हैं. प्रधानी चुनाव लड़ने को लालायित हर व्यक्ति अपने खास मतदाताओं का नाम जोड़वाने और विरोधियों के नाम कटवाने के लिए जोर आजमाइश कर रहा है. जिसके चलते बीएलओ के ऊपर सभी अपने-अपने तरह से प्रेशर बनने में जुटे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज