• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • PRATAPGARH UTTAR PRADESH 2 PRATAPGARH FAKE ELECTRICITY WORKERS USED TO CHEAT VILLAGERS TWO ARRESTED

सावधान! यूपी के कई जिलों में सक्रिय है फर्जी विद्युतकर्मियों का गैंग, ऐसे करते हैं ठगी

ग्रामीणों ने इन दोनों को पकड़कर प्रतापगढ़ पुलिस के हवाले कर दिया.

प्रतापगढ़ पुलिस (Pratapgarh Police) ने इन दोनों को कोहडौर थाना के मदाफरपुर गांव से गिरफ्तार किया है. इनकी पहचान प्रयागराज के रहने अजय कुमार और कमल सिंह के रूप में हुई है.

  • Share this:
प्रतापगढ़. यूपी के प्रतापगढ़ से पुलिस ने दो ऐसे लोगों को पकड़ा है, जो फर्जी विद्युतकर्मी बनकर ग्रामीणों से रुपये ऐंठ रहे थे. इनके पास से बिजली बिल की फर्जी रसीद, फिंगर डिवाइस स्कैनर, विद्युत मीटर की सामग्री और आठ हजार रुपये पुलिस ने जब्त किए. प्रतापगढ़ पुलिस (Pratapgarh Police) ने इन दोनों को कोहडौर थाना के मदाफरपुर गांव से गिरफ्तार किया है. इनकी पहचान प्रयागराज के रहने अजय कुमार और कमल सिंह के रूप में हुई है.

शक होने पर जेई को सूचना दी गई

पुलिस ने बताया कि अजय कुमार प्रयागराज में बैक की टाइनी शाखा चलाता है, जबकि कमल सिंह विद्युत विभाग की ओर से विद्युत मीटर लगाने और बनाने का काम करता है. पुलिस की पूछताछ में इन दोनों ने कबूला है कि ये प्रयागराज और प्रतापगढ़ में 40 ग्रामीणों को अपनी ठगी का शिकार बना चुके हैं. पुलिस ने बताया कि कल दोपहर 3 बजे ये दोनों मदाफरपुर गांव के मिस्त्री लाल के घर पहुच गए. मिस्त्री लाल से मीटर खराब होने और विद्युत बिल का सभी बकाया खत्म करने के लिए 10 हजार रुपये की माग करने लगे. ग्रामीणों ने शक होने पर स्थानीय विद्युत उपकेंद्र में फोन कर जानकारी दी. तब बिजली विभाग के जेई मौके पर पहुच गए. उन्होंने इन दोनों से पूछताछ की जिसके बाद दोनों की पोल ग्रामीणों के सामने खुल गई और तब ग्रामीणों ने पिटाई कर दोनों फर्जी विद्युत कर्मी को पुलिस के हवाले कर दिया.

ग्रामीणों से इस प्रकार दोनों ठग करते थे ठगी

पहले किसी पिछड़े गांव में अजय और कमल पहुच कर किसी के घर में विद्युत मीटर चेक किया करते. फिर उसके सही मीटर को खराब बता कर उसका आधार कार्ड मंगवाते थे. जिसके बाद फिंगर डिवाइस स्कैनर से उसका अगूठा लगवाते थे. फिर 10 हजार रुपये की राशि आधार कार्ड के जरिये ऑनलाइन अपने अकाउंट में ट्रांसफर कर लेते थे. कई ग्रामीणों से इन्होंने नकद रुपये भी ठगे हैं.

लाखों रुपये की कर चुके हैं ठगी

सीओ सिटी अभय पांडे के अनुसार, ये दोनों शातिर ठग बिजली के बिल का बकाया भी ग्रामीणों से जमा करा कर उनको फर्जी बिजली के बिल की रसीद दे दिया करते थे. अभी तक यह गिरोह इस ठगी के जरिये लाखों रुपये कमा चुके हैं. प्रतापगढ़ और पड़ोसी जनपद प्रयागराज में ये विद्युत कर्मी बनकर ग्रामीणों को चूना लगाते थे.
Published by:Anurag Anveshi
First published: