UP के इस गांव को PM मोदी ने नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम पुरस्कार देकर किया सम्मानित

शहाबपुर ग्राम पंचायत को पीएम मोदी द्वारा विशेष पुरस्कार मिलते पर गांव में खुशी का माहौल है. ग्रामीण निवर्तमान ग्राम प्रधान को बधाई देने लगे

शहाबपुर ग्राम पंचायत को पीएम मोदी द्वारा विशेष पुरस्कार मिलते पर गांव में खुशी का माहौल है. ग्रामीण निवर्तमान ग्राम प्रधान को बधाई देने लगे

शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर पंचायतों के सशक्तिकरण में उल्लेखनीय योगदान करने वालों को वर्चुअल माध्यम से विभिन्न पुरस्कारों से सम्मनित किया. इसी क्रम में प्रतापगढ़ जिले के शहाबपुर ग्राम पंचायत को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम पुरस्कार प्रदान किया गया

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 4:34 PM IST
  • Share this:
प्रतापगढ़. कहते हैं अगर काम करने का जज्बा और मेहनत करने की लगन हो तो आप कुछ भी हासिल कर सकते हैं. इसके लिए जरूरी नहीं है कि आप बड़े पद पर ही विराजमान हों. ऐसा ही कुछ प्रतापगढ़ (Pratapgarh) जिले के कुंडा के शहाबपुर प्रधान ने किया तो देश-प्रदेश में उनकी चर्चा होने लगी. नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम पुरस्कार के लिए उन्हें उत्तर प्रदेश से अकेले चुना गया. शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) ने राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस के मौके पर पंचायतों के सशक्तिकरण में उल्लेखनीय योगदान करने वालों को वर्चुअल माध्यम से विभिन्न पुरस्कारों से सम्मनित किया. इसी क्रम में प्रतापगढ़ के शहाबपुर ग्राम पंचायत को नानाजी देशमुख राष्ट्रीय गौरव ग्राम पुरस्कार प्रदान किया गया.

पुरस्कार के तहत ग्राम पंचायत के खाते में 10 लाख नकद और ऑनलाइन प्रमाणपत्र भी मिला. इस पुरस्कार के लिए शहाबपुर के प्रधान का पूरे यूपी में अकेले चयन हुआ था. शहाबपुर ग्राम पंचायत को यह विशेष पुरस्कार मिलते पर गांव में खुशी का माहौल है. ग्रामीण निवर्तमान ग्राम प्रधान को बधाई देने लगे.

ग्राम पंचायत में क्या खास जिसके लिए UP में अकेले मिला सम्मान

शहाबपुर में उपचुनाव के दौरान प्रधान बने प्रभाकर सिंह इस ग्राम पंचायत को कम समय में बहुत आगे लेकर गए. वर्षा जल संचयन, रोजगार, पेयजल, कृषि, विधवा-वृद्धा पेंशन, परियोजनाओं का 90 प्रतिशत क्रियान्वयन. साथ ही गांव के सरकारी स्कूल में प्राइवेट स्कूलों से भी अच्छी सुविधा, ओपन जिम, बच्चों के लिए झूला, सड़क मार्ग, एलपीजी की सुविधा, सुंदर पंचायत भवन, तीन पार्क, कोविड 19 में प्रवासी मजदूरों की गांव में देख रेख करना ग्राम पंचायत में प्रधान का उल्लेखनीय कार्य रहा.
प्रभाकर सिंह ने अन्य ग्राम पंचायतों से अलग अपने गांव को सभी सुविधाओं से लैस किया जिसके चलते इस ग्राम पंचायत को तीन बड़े सम्मान से समानित किया जा चुका है. वर्ष 2019 में दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार, 2020 में दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार में प्रथम स्थान और डॉ. राम मनोहर लोहिया ई-गवर्नेस पंचायत शक्तिकरण 2020 के पुरस्कार से सम्मानित हो चुके हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज