PM नरेंद्र मोदी बोले- सपा ने गठबंधन के सहारे बहन मायावती की पीठ में छूरा घोंपा
Pratapgarh-Uttar-Pradesh-2 News in Hindi

PM नरेंद्र मोदी बोले- सपा ने गठबंधन के सहारे बहन मायावती की पीठ में छूरा घोंपा
प्रतापगढ़ में जनसभा को संबोधित करते पीएम नरेंद्र मोदी

शहर के जीआईसी मैदान पर जनसभा को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा, 'मायावती खुलेआम कांग्रेस की आलोचना करती हैं. कांग्रेस को कोसती हैं. वहीं समाजवादी पार्टी, कांग्रेस पर नरमी दिखाती है.'

  • Share this:
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण के लिए प्रचार अभियान के आखिरी दिन शनिवार को प्रतापगढ़ में जनसभा को संबोधित करते हुए सपा बसपा गठबंधन और कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा. उन्होंने कहा कि कांग्रेस और सपा ने बहन जी को ऐसा धोखा दिया है कि उन्हें खुद भी पता नहीं चल रहा है.

'सपा ने मायावती की पीठ में छुरा घोंपा'
प्रधानमंत्री ने शहर के जीआईसी मैदान पर जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, 'मायावती खुलेआम कांग्रेस की आलोचना करती हैं. कांग्रेस को कोसती हैं. वहीं समाजवादी पार्टी, कांग्रेस पर नरमी दिखाती है. कांग्रेस के नेता खुशी-खुशी समाजवादी पार्टी की रैलियों में मंच साझा कर रहे हैं. बहन जी को ऐसा धोखा इन लोगों ने दिया है कि उन्हें भी समझ नहीं आ रहा. अब ये साफ हो चुका है कि समाजवादी पार्टी ने गठबंधन के बहाने बहन मायावती की पीठ में छुरा घोंपा है. पिछले दरवाजे से समाजवादी पार्टी और कांग्रेस एक हो गए हैं.'

'यूपी के लोगों ने चार चरणों में तय कर दिए नतीजे'
इससे पहले पीएम मोदी ने कहा, 'चार चरणों के मतदान के बाद उत्तर प्रदेश के लोगों ने तय कर दिया है कि नतीजे क्या आने वाले हैं. अब पांचवें चरण से पहले अगर ये महामिलावटी लोग आपका ये उत्साह देख लेंगे तो शायद मैदान ही छोड़ देंगे. उत्तर प्रदेश के लोगों ने जिस तरह ठान लिया है कि विकास के आगे उन्हें कुछ भी मंजूर नहीं है. इन महामिलावटी लोगों को समझ ही नहीं आ रहा है कि अब बचा हुआ चुनाव बचाने के लिए कौन सा खेल खेला जाए. कल तक कांग्रेस के नामदार कहते थे कि वो मोदी के प्रभाव से डरते हैं. अब वो कहने लगे हैं कि मोदी से तब तक नहीं जीत सकते, जब तक मोदी की मेहनत और मोदी की देशभक्ति पर दाग न लग जाए. वोट काटना, समाज तोड़ना, देश बांटना, कैबिनेट का अध्यादेश फाड़ना, यही कांग्रेस की पहचान बन गया है.'



'महामिलावट के इस पंजे के पांच भयानक खतरे' 
प्रधानमंत्री ने कहा, 'न मैं गिरा और न मेरी उम्मीदों के मीनार गिरे, पर कुछ लोग मुझे गिराने में कई बार गिरे. मजबूरी और अवसरवाद की इस महामिलावट का पंजा बहुत खतरनाक है. जब-जब ये महामिलावटी पंजा सत्ता में आता है, देश को इसका नुकसान उठाना पड़ता है. महामिलावट के इस पंजे के पांच भयानक खतरे हैं- पहला खतरा- भ्रष्टाचार, दूसरा खतरा - अस्थिरता, तीसरा खतरा - जातिवाद, चौथा खतरा - वंशवाद., पांचवां खतरा- कुशासन.'

'किसानों की जमीन हड़प लेते हैं कांग्रेस के नामदार'
इस दौरान अमेठी का जिक्र करते हुए उन्होंने कहा, "कांग्रेस के नामदार किसानों की ज़मीन को ट्रस्ट के नाम पर कब्जा करते हैं और फिर उसको हड़प लेते हैं. किसानों से जमीन लेते हैं फैक्ट्री के नाम पर उस पर अपने लिए नोटों की खेती करते हैं. यहां अमेठी में तो यही हुआ था न. कांग्रेस और उसके महामिलावटी साथी ऐसी सरकार दे ही नहीं सकते, जो स्थिर हो, टिकाऊ हो. आप लोगों को नहीं भूलना चाहिए कि केंद्र में अंतिम बार जब थर्ड फ्रंट की सरकार बनी थी तो वो दो साल से भी कम चल पाई थी. इसी छोटी अवधि में भी उसने दो प्रधानमंत्री देख लिए थे. चरण सिंह जी और चंद्रशेखर जी की सरकारें भी चल नहीं पाईं क्योंकि कांग्रेस ने कुछ समय के अंदर ही अपना समर्थन वापस ले लिया था. इसी तरह जब सपा-बसपा आखिरी बार साथ आए थे, तब उनकी सरकार दो साल भी नहीं चल पाई थी. आज 21वें सदी में देश जिस पड़ाव पर है, दुनिया में जिस तरह के बदलाव हो रहे हैं, उसमें भारत का मजबूत होना बहुत जरूरी है."

ये महामिलावट वालों का इतिहास जिस तरह देश की सुरक्षा से खिलवाड़ का रहा है, ये लोग देश के भविष्य को भी बर्बाद करने में कोई कसर बाकी नहीं रखेंगे. न लोगों की चली तो ये लोग अपने स्वार्थ के लिए 21वीं सदी के नौजवानों का पूरा भविष्य भी चौपट कर देंगे. इन लोगों ने दलालों और बिचौलियों का ऐसा नेटवर्क खड़ा कर रखा था कि देश की रक्षा से जुड़े सामान में सबसे अधिक भ्रष्टाचार हुआ. अभी हेलीकॉप्टर घोटाले में तो इनके राजदार, इटली वाले मिशेल मामा को विदेश से उठाकर हम लाए हैं. वो इनके काले कारनामों के राज़ खोल रहा है.

उन्होंने कहा कि बीते 5 वर्षों में धमाके की खबरें नहीं आती हैं. आतंकवाद को सीमा के एक बहुत छोटे हिस्से तक समेट दिया है. ये इसलिए हो पा रहा है क्योंकि हम आतंक पर देश के भीतर और सीमापार दोनों जगह सीधा प्रहार कर रहे हैं. वोट के लिए हम किसी आतंकी का जात, पंथ नहीं देख रहे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज