प्रयागराज: अस्पताल ने कोरोना पॉजिटिव मां से नवजात को लेकर पिता के किया सुपुर्द, प्रतापगढ़ में पिता भी संक्रमित

प्रतापगढ़ में कोरोना पॉजिटिव निकले एक शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.
प्रतापगढ़ में कोरोना पॉजिटिव निकले एक शख्स को अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

एक दिन पहले ही पिता और 3 दिन की नवजात बच्ची की कोरोना जांच निगेटिव आने की बात कहकर प्रयागराज (Prayagraj) में अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था. बच्ची की मां कोरोना पॉजिटिव है. इसके बाद नवजात पिता को सौप दिया था. प्रतापगढ़ में पिता कोरोना पॉजिटिव निकला है.

  • Share this:
प्रतापगढ़. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज (Prayagraj) में एसआरएन  स्वास्थ्य महकमे की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है. प्रयागराज से नवजात बच्चे को एम्बुलेंस (Ambulance) से लेकर गांव पहुंचा पिता कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मिला है. गांव पहुचने के बाद पिता की जांच रिपोर्ट प्रतापगढ़ (Pratapgarh) में कोरोना पॉजिटिव आई तो परिजनों में हड़कंप मच गया. बता दें एक दिन पहले ही पिता और 3 दिन की नवजात बच्ची की कोरोना जांच निगेटिव आने की बात कहकर प्रयागराज में अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया था. बच्ची की मां कोरोना पॉजिटिव है. इसके बाद नवजात पिता को सौप दिया था.

व्यक्ति की पत्नी, बेटा और भाई समेत 4 लोग कोरोना पॉजिटिव 

बता दें पिता 2 दिन पहले प्रयागराज के अस्पताल में संदिग्ध मरीज के रूप में भर्ती हुआ था. उसके परिवार में पत्नी, बेटा, भाई समेत 4 लोग कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं. वहीं उसके पिता की संदिग्ध दशा में एक सप्ताह पहले मौत हो चुकी है. ये पूरा परिवार पट्टी कोतवाली के सलाहपुर गांव का रहने वाला है. युवक को बीती रात प्रतापगढ़ के L1 अस्पताल में इलाज के लिए शिफ्ट किया गया है. अब सवाल ये है कि आखिर जिस घर में कोरोना का कहर चल रहा हो, घर के 4 लोग पहले से ही कोरोना के संक्रमण से ग्रसित हों. उसके बाद भी संदिग्ध मरीज पिता को अस्पताल ने नवजात कैसे सौप दी गई? कहीं न कहीं प्रयागराज अस्पताल प्रशासन की बड़ी लापरवाही सामने आ रही है.



मां प्रयागराज में, पिता अब प्रतापगढ़ अस्पताल में, नवजात मौसी के पास
अब पिता अपनी नवजात बच्ची को देख-भाल के लिए उसकी मौसी के घर छोड़कर खुद कोविड अस्पताल में भर्ती हो गया है. मामले में परिजनों से फोन पर बात की गई तो उन्होंने आरोप लगाया कि सारी जांच होने के बाद नवजात बच्चे को पिता को सुपुर्द किया गया था. पिता एम्बुलेंस से लेकर शाम को घर पंहुचा लेकिन जैसे ही घर पहुचा वैसे कुछ घंटे में पिता की जांच रिपोर्ट भी पॉजिटिव आ गई.

ये भी पढ़ें:

प्रवासी मजदूरों की आमद से UP में कोरोना का चढ़ा पारा, 1200 से ज़्यादा पॉजिटिव

महाराष्ट्र से साइकिल चलाकर बांदा आए श्रमिक ने लगाई फांसी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज