कोरोना काल में लोगों की मदद के लिए दिल खोलकर आगे आए उत्तर प्रदेश का युवा सलमान प्रतापगढ़ी
Pratapgarh-Uttar-Pradesh-2 News in Hindi

कोरोना काल में लोगों की मदद के लिए दिल खोलकर आगे आए उत्तर प्रदेश का युवा सलमान प्रतापगढ़ी
उत्तर प्रदेश के प्रतपगढ़ जिले से ताल्लुक़ रखने वाले सलमान प्रतापगढ़ी विश्वविद्यालय में पढ़ाई के दौरान से ही सामाजिक सरोकारों से जुड़े रहे.

उत्तर प्रदेश के प्रतपगढ़ जिले से ताल्लुक़ रखने वाले सलमान प्रतापगढ़ी विश्वविद्यालय में पढ़ाई के दौरान से ही सामाजिक सरोकारों से जुड़े रहे.

  • Share this:
कोरोना वायरस महामारी (Corona Virus) पूरी दुनिया के लिए बड़ी आपदा के बन के आई. इसका सबसे बुरा प्रभाव गरीबों पर पड़ा. जब कोरोना की आहट पर लॉकडाउन किया गया, तब बड़े शहरों से अपने घर को पलायन कर रहे मज़दूरों की तस्वीरों ने सभी को दुख पहुंचाया. लेकिन उसी वक्त कई लोग ऐसे उभरे जिन्होंने खुलकर गरीबों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया. उन्हीं में एक उत्तर प्रदेश के युवा सलमान प्रतापगढ़ी भी हैं. सलमान प्रतापगढ़ी ने कोरोना को लेकर न केवल लोगों की मदद के लिए आगे आए बल्कि जागरूकता अभियान चलाकर अपने जैसे अन्य युवाओं को भी एकजुट कर लिया. इसके बाद उन्होंने लोगों तक मदद पहुंचानी शुरू की. सलमान बताते हैं कि उन्होंने लॉकडाउन 1 से ही देश के अलग-अलग हिस्सों में लोगों को एकजुट कर इस काम को करने के लिए तैयार कर लिया था.

उत्तर प्रदेश के प्रतपगढ़ जिले से ताल्लुक़ रखने वाले सलमान प्रतापगढ़ी विश्वविद्यालय में पढ़ाई के दौरान से ही सामाजिक सरोकारों से जुड़े रहे हैं. कोरोना महामारी को लेकर की गयी बातचीत में उन्होंने बताया कि "समाजिक परेशानियों से काफ़ी कम उम्र से वे रूबरू होता रहा हूं और मुझे ये बात परेशान करती रही है कि विभिन्न सरकारों और संस्थाओं के तमाम वादों और घोषणाओं के बाद भी लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है. आखिर क्यों जब भी कोई आपदा आती है तो इसकी सबसे पहली मार ग़रीबों पर ही पड़ती है."

बता दें कि सलमान प्रतापगढ़ी ने कोरोना वायरस के कारण घोषित लॉकडाउन के चलते बेरोज़गार हुए दिहाड़ी मज़दूरों के लिए लगातार भोजन का इंतज़ाम किया. साथ ही एक टीम बनाकर जहां से भी उन्हें परेशानियों और ज़रूरतमंदो के बारे में पता चला वहां उनकी मदद करने की भरसक कोशिश की. सलमान के अनुसार वे ऐसे कई संगठनों से जुड़े हैं जो ज़मीन पर लोगों की मदद करने के साथ हर सम्भव मदद पहुंचा रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज