बिजली के तार की चपेट में आने से शिक्षिका की मौत,परिजनों का फूटा गुस्‍सा

ये मामला महेशगंज थाना के राजापुर विंधन का है, जहां पूजा करने मंदिर जा रही हेडमास्टर शिक्षिका संतोष कुमारी की जर्जर तारों की चपेट में आने से मौत हो गई


Updated: July 12, 2018, 2:11 PM IST

Updated: July 12, 2018, 2:11 PM IST
यूपी के प्रतापगढ़ जिले में विद्युत विभाग की लापरवाही थामने का नाम नही ले रही है. एक माह में लगभग आधा दर्जन लोगों की मौत बिजली के जर्जर तार टूटने की चपेट में आने से हो चुकी है. अब ताजा मामला महेशगंज इलाके का है,  यहां भी एक शिक्षिका की मौत  सड़क पर टूट पड़े बिजली तार के करंट की चपेट में आने की वजह से हो गई. वहीं महिला की मौत से गुस्‍साए लोगों ने शव रखकर जाम लगा दिया. मौके पर पहुंची पुलिस ने समझा-बुझाकर लोगों को शांत किया.

ये मामला महेशगंज थाना के राजापुर विंधन का है, जहां पूजा करने मंदिर जा रही हेडमास्टर शिक्षिका संतोष कुमारी की जर्जर तारों की चपेट में आने से मौत हो गई. इस घटना के बाद से गाव में हड़कंप मच गया. विद्युत विभाग की लापरवाही से हुए हादसे से आक्रोशित ग्रामीणों ने कुंडा -प्रतापगढ़ मार्ग पर घंटो तक जाम लगा दिया.सूचना मिलते ही मौके पर एसडीएम और सीओ भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंंच गए. परिजनों को समझाने बुझाने का प्रयास करने लगे. गुस्‍साए लोगों की तहरीर पर जेई और एसडीओ के खिलाफ गैर इरादातन हत्या का मुक़दमा दर्ज किया गया है. तब जाकर मृतक के परिजनों ने जाम को समाप्त किया.इसके बाद पुलिस ने शव को कब्जे में लेते हुए पीएम के लिए भेज दिया हैं.

बता दें कि शिक्षिका संतोष कुमारी प्रथिमिक विधालय जनक का पुरवा में हेडमास्टर के पद तैनात थींं. घटना के बाद से ही परिजनों में कोहराम मचा हुआ है. बताते चलें की विद्युत विभाग की जिले में जर्जर तार मौतों को दावत दे रहे है. जिले में एक के बाद एक बिजली की चपेट में आने से लोगोंं की मौत हो रही है.

यह भी पढ़ें: लखनऊ में दलित किशोरी से गैंगरेप: पुलिस ने एक आरोपी को किया गिरफ्तार 

ताजमहल की 'हिफाज़त में कोताही' पर भड़का SC, कहा- सहेज नहीं सकते, तो ढहा दो
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर