Home /News /uttar-pradesh /

अभी और मजबूत होगा अखिलेश का कुनबा, अपना दल के बागी विधायक आरके वर्मा करेंगे साइकिल की सवारी

अभी और मजबूत होगा अखिलेश का कुनबा, अपना दल के बागी विधायक आरके वर्मा करेंगे साइकिल की सवारी

आरके वर्मा होंगे सपा में शामिल.

आरके वर्मा होंगे सपा में शामिल.

उत्तर प्रदेश (UP Chunav 2022) में होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022) को लेकर नेताओं के पाला बदले का सिलसिला जारी है. प्रतापगढ़ में भी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक हलचल तेज़ है. टिकट न मिलने पर प्रत्याशी बड़ी तेजी से दलबदल की मुहिम में जुटे हुए हैं. इस बीच खबर है कि अपना दल (एस) अनुप्रिया गुट के बागी विधायक आरके वर्मा 16 जनवरी को सपा का दामन थाम कर साईकल की सवारी कर सकते हैं. इसलिए उन्होंने अपना दल (एस) से नाता तोड़ते हुए इस्तीफा भी दे दिया.

अधिक पढ़ें ...

प्रतापगढ़: उत्तर प्रदेश (UP Chunav 2022)  में होने वाले विधानसभा चुनाव (UP Assembly Election 2022)  को लेकर नेताओं के पाला बदले का सिलसिला जारी है. प्रतापगढ़ में भी विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक हलचल तेज़ है. टिकट न मिलने पर प्रत्याशी बड़ी तेजी से दलबदल की मुहिम में जुटे हुए हैं. इस बीच खबर है कि अपना दल (एस) अनुप्रिया गुट के बागी विधायक आरके वर्मा 16 जनवरी को सपा का दामन थाम कर साईकल की सवारी कर सकते हैं. इसलिए उन्होंने अपना दल (एस) से नाता तोड़ते हुए इस्तीफा भी दे दिया.

विश्वनाथगंज विधायक डॉ. आरके वर्मा सपा खेमे में महीनों से सक्रिय चल रहे थे. सपा के बड़े कार्यक्रम में उनकी मौजूदगी भी रहती थी, जिसके चलते अपना दल एस ने कुछ दिनों पहले पार्टी विरोधी गतिविधियों के चलते विधायक आरके वर्मा को पार्टी से निलंबित कर दिया था, जिसके बाद जिले का सियासी तापमान बढ़ा हुआ है. आरके वर्मा विश्वनाथगंज विधानसभा से दो बार अपना दल-भाजपा के गठबंधन से विधानसभा चुनाव जीत चुके हैं.

दरअसल, 2014 उपचुनाव में डॉ. आरके वर्मा अपना दल से चुनाव लड़े  थे और जीत हासिल की थी. इसके बाद फिर 2017 में अपना दल और भाजपा गठबंधन से चुनावी मैदान में उतरे वर्मा ने विश्वनाथगंज विधानसभा सीट से जीत हासिल की. लेकिन अब आरके वर्मा ने भाजपा सरकार पर लोकतंत्र विरोधी और उसको बढ़ावा देने का आरोप लगाया है.

मंत्री बनने के लिए हुई थी पार्टी के अंदर रार
सूत्र बताते हैं विधायक आरके वर्मा अपना दल एस की सुप्रीमो से सालों से नाराज हैं. विधायक आरके वर्मा ने 2014 में अपना दल का सूखा खत्म किया था और इस सीट पर जीत दर्ज की थी. हाालंकि, 2017 विधानसभा चुनाव जीतने के बाद अनुप्रिया पटेल से मंत्री पद को लेकर उनका मनमुटाव हो गया, जिसके बाद से ही विधायक आरके वर्मा ने अपना दल एस से किनारा कर लिया.

Tags: Assembly elections, UP Vidhan sabha chunav, Uttar Pradesh Assembly Elections, ​​Uttar Pradesh News

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर