Home /News /uttar-pradesh /

प्रयागराज सामूहिक हत्याकांड: पुलिस की पकड़ में कैसे आया संदिग्ध? कैसे मिला एकतरफा प्यार का एंगल? जानें सारी डिटेल

प्रयागराज सामूहिक हत्याकांड: पुलिस की पकड़ में कैसे आया संदिग्ध? कैसे मिला एकतरफा प्यार का एंगल? जानें सारी डिटेल

पुलिस ने पवन कुमार सरोज (बीच में) नाम के युवक को गिरफ्तार कर इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है.

पुलिस ने पवन कुमार सरोज (बीच में) नाम के युवक को गिरफ्तार कर इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है.

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित फाफामऊ थाना क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार में गुरुवार को हुई दलित परिवार की सामूहिक हत्या (Prayagraj Dalit Family Murder Case) के मामले में पुलिस ने पवन कुमार सरोज नाम के युवक को गिरफ्तार कर इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. पुलिस को आखिर इस संदिग्ध का कैसे सुराग मिला और कैसे उसके जुर्म से परदा उठा? जानें

अधिक पढ़ें ...

प्रयागराज. उत्तर प्रदेश के प्रयागराज स्थित फाफामऊ थाना क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार में गुरुवार को हुई दलित परिवार की सामूहिक हत्या (Prayagraj Dalit Family Murder Case) के मामले में पुलिस ने पवन कुमार सरोज नाम के युवक को गिरफ्तार कर इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझाने का दावा किया है. पुलिस के मुताबिक, पवन सरोज लगभग 23 वर्ष का है और पढ़ा-लिखा नहीं है. प्रयागराज जोन के एडीजी ने बताया कि पवन मृतक की ही जाति का है, ऐसे में दलित उत्पीड़न (Dalit Atrocities)का केस नहीं बनता. पुलिस ने इस संबंध में दर्ज पोक्सो केस (POCSO Act) भी हटा लिया है.

एक मैसेज से खुला हत्याकांड का राज़
पुलिस ने बताया कि पवन पीड़ित परिवार के मकान से करीब एक किलोमीटर दूर ईंट-भट्ठे के पास रहता था और सटरिंग का काम करता है. वह उस मृतक लड़की से एकतरफा प्रेम करता था और उसे मैसेज भी भेजता था. उसी ने मृतक को आखिरी मैसेज भेजा था. इसमें उसने आई लव यू लिखा था, जिसके जवाब में मृतक लड़की ने आई हेट यू लिखकर भेजा था.

गौरी मैम के नाम से सेव किया था मृतक लड़की का नंबर
प्रयागराज जोन के एडीजी प्रेम प्रकाश के मुताबिक, इस सामूहिक हत्याकांड की जांच के दौरान मृतका के मोबाइल से ही अभियुक्त पवन सरोज तक पहुंचने का सुराग मिला. मृतक लड़की के मोबाइल पर आखिरी मैसेज पवन सरोज ने ही भेजा था. पुलिस ने जब पवन सरोज को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो पहले वह टालमटोल करता रहा और मृतक को कोई मैसेज भेजना तो दूर उसे जानने-पहचानने से भी इनकार किया. लेकिन पुलिस ने जब उसे वह मैसेज दिखाए तो वह टूट गया. उसके मोबाइल में भी भेजे गए मैसेज मिल गए. एडीजी के मुताबिक पवन सरोज ने मृतक लड़की का मोबाइल नंबर गौरी मैम के नाम से सेव किया हुआ था.

महिला के प्राइवेट पार्ट्स पर पाई गई इंजरी 
एडीजी के मुताबिक, मृतक लड़की के साथ दुष्कर्म की पुष्टि हो गई है, लेकिन कितने लोगों द्वारा दुष्कर्म किया गया है. इसके लिए मेडिकल ओपिनियन पोस्टमार्टम पैनल से ली गई है. चिकित्सकों द्वारा बताया गया कि महिला के प्राइवेट पार्ट्स पर इंजरी पाई गई है. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि मृतक लड़की बालिग है. उसके मोबाइल से मिले डॉक्यूमेंट के आधार पर उसकी जन्मतिथि 4 जून 1996 है. इस आधार पर उसकी उम्र करीब 25 वर्ष है. ऐसे में इस केस में पाक्सो एक्ट के तहत जो धाराएं लगाई गई थी, वे भी अब हटाई जाएंगी.

ये भी पढ़ें- प्रयागराज सामूहिक हत्याकांड: योगी सरकार पीड़ित परिजनों को देगी 16 लाख रुपए की आर्थिक सहायता

संदिग्ध की शर्ट पर मिले खून के निशान!
एडीजी के मुताबिक मृतक लड़की की मां को भी मारा गया है, लेकिन उसके साथ रेप की पुष्टि नहीं हुई है. पकड़े गए आरोपी पवन सरोज के भी शरीर पर कुछ चोट के निशान मिले हैं. शर्ट पर भी कुछ निशान मिले हैं, जिसे वह पान के निशान बता रहा है, लेकिन देखने में वह खून के निशान प्रतीत हो रहे हैं. एडीजी ने बताया कि आरोपी पवन सरोज के कपड़े और अन्य एविडेंस को कलेक्ट कर एफएसएल लैब भेजा गया है, जहां से डीएनए प्रोफाइलिंग के बाद यह मामला पूरी तरह से साफ हो जाएगा.

ये भी पढ़ें- प्रयागराज सामूहिक हत्याकांड में बड़ा खुलासा, एक तरफा प्रेम में युवक ने किए थे 4 कत्ल, गिरफ्तार

गौरतलब है कि गुरुवार सुबह फाफामऊ थाना क्षेत्र के गोहरी मोहनगंज बाजार में एक कच्चे मकान में माता-पिता, बेटी और बेटे की धारदार हथियार से हत्या कर दी गई थी. इस मामले में परिजनों ने गांव में एक परिवार से जमीन और रास्ते को लेकर पुरानी रंजिश के आधार पर 11 लोगों को नामजद करते हुए मुकदमा दर्ज करा दिया था, जिसमें से एक महिला का भी नाम शामिल था. पुलिस ने 8 लोगों को इस मामले में अब तक हिरासत में लेकर पूछताछ की थी, जबकि नामजद दो आरोपियों की लोकेशन मुंबई पाई गई थी. एक व्यक्ति ऐसा भी था जो कि लंबे समय से बीमार होने के चलते अस्पताल में एडमिट है. पुलिस के मुताबिक, इस मामले में महिला को छोड़कर अन्य 7 आरोपियों के डीएनए सैंपल भी जांच के लिए लैब भेजे गए हैं, लेकिन विवेचना में नामजद लोगों की संलिप्तता हत्याकांड में सामने नहीं आ रही है.

Tags: Allahabad news, Assault with Dalit family, Prayagraj News, UP police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर