लाइव टीवी

रायबरेली: 4 साल की बेटी के सामने की गर्भवती पत्‍नी की हत्‍या, घर में शव जलाने के बाद नहर में फेंका अवशेष!

MOHAN KRISHAN | News18 Uttar Pradesh
Updated: January 15, 2020, 7:28 PM IST
रायबरेली: 4 साल की बेटी के सामने की गर्भवती पत्‍नी की हत्‍या, घर में शव जलाने के बाद नहर में फेंका अवशेष!
पुलिस ने वारदात में आरोपी चारों आरोपियों को ‍गिरफ्तार कर ‍लिया है. 

पुलिस (Police) ने मृतका के पति (Husband), ससुर (Father in Law) और देवर को गिरफ्तार (Arrest) कर सलाखों के पीछे भेज दिया है. करीब एक सप्‍ताह पहले मृतका की गुमशुदगी (Missing) की रिपोर्ट डीह थाने में दर्ज कराई गई थी.

  • Share this:
रायबरेली. गर्भपती पत्‍नी (Pregnant Wife) को जिंदा जलाने के बाद बचे हुए अवशेष को नहर में बहाने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. वारदात रायबरेली (Raebareli) के डीह (Deeh) थाना क्षेत्र की है. डीह थाना पुलिस ने वारदात में आरोपी मृतका के पति, ससुर और देवर को गिरफ्तार का सलाखों के पीछे भेज दिया है. आरोप है कि गत चार जनवरी को आरोपियों (Accused) ने ने गर्भवती महिला को घर में ही जलाकर मार डाला. इसके बाद, मृतका के अवशेष को पास की नहर में फेंक दिया था. घटना के 6 दिन बाद 10 जनवरी को मृतका के पति रवींद्र कुमार (Ravindra Kumar) ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट (Missing Report) दर्ज कराई थी.

बहन की शिकायत के बाद हुआ खुलासा
अपर पुलिस अधीक्षक नित्यानंद ने बताया कि मृत गर्भवती महिला उर्मिला (27) की गुमशुदगी की तहरीर पति रविन्द्र कुमार द्वारा 10 जनवरी को थाने पर दी गई थी. इस बीच मृतका की बहन विद्या देवी को भनक लगी तो उसने पुलिस को अलग से एक तहरीर दी थी. बहन ने आरोप लगाया था कि रवींद्र कुमार उसकी बहन उर्मिला को अक्‍सर पीटता था. 4 जनवरी को पति रवींद्र कुमार, ससुर करमचंद्र, देवर संजीव कुमार उर्फ कल्लू और ब्रजेश कुमार ने घर मे जान से मारकर अपनी चक्की के बगल में शव को जला दिया.

मृतका की बेटी ने मौसी को बताया था वारदात का सच

मृतका की बहन विद्या देवी ने पुलिस को बताया था कि उसकी बहन के दो बेटियां सारिका (7) व राधिका (4) है. बेटी सारिका से बहन की हत्या की बात पता चली है. विद्या ने बताया कि उसकी बहन गर्भवती थी. इसके बाद सीओ सलोन विनीत सिंह व थानाध्यक्ष जेपी यादव फॉरेंसिक टीम को लेकर घटनास्थल पहुंचे. फोरेंसेसिक टीम की डॉ. प्रतिभा ने घटनास्थल पर जाकर साक्ष्य संकलन किया. जांच के दौरान पता चला कि आरोनियों ने साक्ष्य मिटाने के लिए शव के अवशेष नहर में फेंक दिया था.

फरार होने की फिरांक में थे आरोपी
वारदात के बाबत पर्याप्‍त सबूत मिलने के बाद पुलिस ने आरोपियों की तलाश शुरू कर दी. करीब छह दिन की लंबी जद्दोजहद के बाद बुधवार को पुलिस टीम को सफलता हाथ लगी. मुखबिर से मिली सूचना पर पुलिस ने डीह थाना क्षेत्र के मटियरवा चौराहे से आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वारदात का राज खुलने के बाद उन्‍हें अपनी गिरफ्तारी का भय सता रहा था. पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए फरार होने की तैयारी में थे. इसी इरादे से वे सभी मटियरवा चौराहा पहुंचे थे.यह भी पढ़ें:
लखनऊ: सीएसआई टॉवर में आग लगने से मचा हड़कंप, जांच के घेरे में आईं स्‍वास्‍थ्‍य विभाग की एक डॉक्‍टर
शौचालय में चल रही है रसोई, डीएम ने कही जांच की बात
CAA समर्थन को लेकर यूपी में 6 रैलियां करेगी बीजेपी, अमित शाह लखनऊ में होंगे शामिल


 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रायबरेली से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 15, 2020, 6:39 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर