उत्तर प्रदेश : दो साल पहले लड़की पर फेंका था तेजाब, अब पूरी उम्र गुजरेगी जेल में

उम्रकैद की सजा पाए गुनहगार को कोर्ट रूम से ले जाते पुलिसवाले.

उम्रकैद की सजा पाए गुनहगार को कोर्ट रूम से ले जाते पुलिसवाले.

दो साल पहले कॉलेज जा रही छात्रा पर तेजाब फेंकने वाले आरोपी को विशेष न्यायाधीश हीरालाल की अदालत ने उम्रकैद की सजा सुनाई. साथ ही 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 19, 2021, 10:58 PM IST
  • Share this:

रायबरेली. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की रायबरेली (Raebareli) में विशेष न्यायाधीश हीरालाल (Special Judge Hiralal) ने एसिड अटैक (Acid Attack) पीड़िता को दो साल में इंसाफ दे दिया है. दो साल पहले कॉलेज जा रही छात्रा पर तेजाब फेंकने वाले आरोपी को कोर्ट ने उम्रकैद की सजा सुनाई. साथ ही 50 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया. मामला जिले के ऊंचाहार कोतवाली क्षेत्र का है.

16 अप्रैल 2019 की है वारदात

कोर्ट में पेश मामले के अनुसार, यह वारदात 16 अप्रैल 2019 की है. ऊंचाहार कोतवाली क्षेत्र के पट्टी रहस कैथवल गांव की युवती साइकिल से आइटीआई कॉलेज खोजनपुर पढ़ने जा रही थी. रास्ते में गौरेया बाजार के पास बाइक सवार युवक ने उसके ऊपर एसिड फेंक दिया था. गंभीर रूप से झुलसने के कारण पीड़िता को ट्रॉमा सेंटर लखनऊ में भर्ती कराया गया.

पुलिस कॉन्स्टेबल के रूप में चुनी गई थी युवती
युवती का चयन पुलिस विभाग में कॉन्स्टेबल पद पर हो गया था, मगर एसिड अटैक के कारण वह समय से ज्वॉइन करने नहीं जा सकी. डेढ़ महीने के इलाज के बाद जब वह स्वस्थ हुई तो तत्कालीन पुलिस कप्तान की पहल पर उसे प्रशिक्षण के लिए भेजा गया. इस प्रकरण में माधवपुर सुल्तान मजरे अरखा गांव के प्रदीप मौर्य को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया था.

मोबाइल पर धमकी भरे मेसेज भेजा करता था गुनहगार

आरोपी प्रदीप कुमार मौर्य पीड़िता को मोबाइल पर धमकी भरे मेसेज भेजता था. इसी के जरिए पुलिस उस तक पहुंच गई. एसिड अटैक करते वक्त प्रदीप ने चेहरे पर नकाब बांध रखा था, इसलिए तब मामला अज्ञात के खिलाफ पंजीकृत किया गया था. केस की विवेचना तत्कालीन सीओ विनीत सिंह ने की थी. 48 घंटे के भीतर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. इस मामले में एक माह के भीतर चार्जशीट दाखिल कर दी गई थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज