सोनिया गांधी की रायबरेली में विकास के लिए जेटली ने दिया 2.5 करोड़

हीरो बाजपेई ने कहा कि रायबरेली की जनता स्टेडियम, यूनिवर्सिटी, सोलर लाइट और दूर-दराज के इलाकों में सोलर ऊर्जा से चलने वाले पंप की मांग कर रही है. उन्होंने कहा कि लोगों की इन मांगों को पूरा करन का प्रयास किया जाएगा.

News18Hindi
Updated: October 8, 2018, 12:19 PM IST
सोनिया गांधी की रायबरेली में विकास के लिए जेटली ने दिया 2.5 करोड़
(फाइल फोटो- अरुण जेटली)
News18Hindi
Updated: October 8, 2018, 12:19 PM IST
2019 लोकसभा चुनाव से ठीक पहले कांग्रेस को उनके गढ़ में ही घेरने के लिए बीजेपी ने तैयारी कर ली है. मोदी सरकार में केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली अपना सांसद निधि का पैसा सोनिया गांधी के संसदीय क्षेत्र रायबरेली में खर्च करेंगे. इसके लिए उन्होंने 2.5 करोड़ की पहली किस्त की चिट्ठी रायबरेली प्रशासन को भेज भी दी है. जेटली के इस कदम को गांधी परिवार के गढ़ में बीजेपी की पहुंच बढ़ाने की कोशिशों के रूप में देखा जा रहा है.

बीजेपी प्रवक्ता हीरो बाजपेई ने न्यूज18 से बातचीत में बताया कि 'यूपी से राज्यसभा सांसद होने के नाते अरुण जेटली ने रायबरेली को चुना है. एक प्रमुख राजनीतिक परिवार का गढ़ होने के बावजूद रायबरेली जिला जिस तरह से पिछड़ेपन का शिकार है, यह देखते हुए जेटली ने इस क्षेत्र को चुनने का का फैसला किया है.'



हीरो बाजपेई ने कहा कि रायबरेली की जनता स्टेडियम, यूनिवर्सिटी, सोलर लाइट और दूर-दराज के इलाकों में सोलर ऊर्जा से चलने वाले पंप की मांग कर रही है. उन्होंने कहा कि लोगों की इन मांगों को पूरा करन का प्रयास किया जाएगा. बाजपेयी ने इसी के साथ बताया कि राय बरेली के विकास के लिए मुख्य विकास अधिकारी के पास 2.5 करोड़ रुपये पहुंच चुके हैं.

बता दें कि कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी रायबरेली से सांसद हैं. 1980 के बाद से रायबरेली कांग्रेस का गढ़ रहा है. 2014 के लोकसभा चुनाव में सोनिया गांधी को रायबरेली से 5,26,434 वोट मिले थे. उन्होंने अपने प्रतिद्वंदी बीजेपी उम्मीदवार को 3,52,713 वोटों से हराया था.

ये भी पढ़ें:

वाराणसी: तालाब की बदबू से परेशान रामलीला छोड़ धरने पर बैठे 'राम और लक्ष्मण'

सपा सांसद सुरेंद्र सिंह नागर बोले, 'मैं भी रामभक्त, 6 महीने में बन सकता है राम मंदिर'
Loading...

गृहमंत्री राजनाथ सिंह की पुलिस को सलाह- राज्यों की फोर्स को थोड़ा 'विनम्र' भी होना चाहिए

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...